Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचतराझारखंड

चतरा: डायन-बिसाही के आरोप में मासूम बच्ची के सामने दादी की बेरहमी से हत्या, सदमे में पोती

चतरा : झारखंड में अंधविश्वास और जादू-टोना (डायन-बिसाही) का एक और मामला सामने आया है। इस मामले में गांव के ही एक युवक ने वृद्धा की बेरहमी से हत्या कर दी। घटना चतरा जिले के लावालौंग थाना क्षेत्र के टेवना गांव की है।

युवक ने झाड़-फूंक का आरोप लगाकर वृद्धा की 5 वर्षीय पोती के सामने ही हत्या कर दी। हालांकि, छोटी लड़की ने दादी को बचाने और युवक को रोकने के लिए अपनी पूरी कोशिश की। लेकिन युवक ने उसे धक्का देकर किनारे कर दिया। जिसके बाद बच्ची रोती रही। बताया जा रहा है कि महिला झाड़-फूंक का काम करती थी। आरोपी को शक था कि महिला जादू-टोना कर उसे परेशान कर रही है।

मृतक महिला के परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी कि रविवार की शाम तेतरी नाम की बुजुर्ग महिला अपनी 5 वर्षीय पोती के साथ घर से राशन लेने के लिए लावालौंग बाजार गयी थी। देर शाम वह सामान खरीद कर अपनी पोती के साथ घर लौट रही थी। लेकिन टेवना और लावालौंग के बीच रास्ते में सुनसान जगह पर गांव के 30 वर्षीय युवक उपेंद्र गंझू ने महिला पर हमला कर दिया। जब बच्ची ने चिल्लाकर उसका विरोध किया तो आरोपी ने उसे लात मारकर किनारे कर दिया। जिसके बाद आरोपी युवक ने महिला के पेट में चाकू घोंप दिया। जिससे वह गिर गयी। चाकू मारने के बाद युवक ने महिला के चेहरे को पत्थर से कुचल दिया। इसके बाद उसे घसीटकर जंगल के गड्ढे में फेंक दिया।

घटना के बाद उपेंद्र घर पहुंचा और परिजनों को बताया कि उसने तेतरी की हत्या की है। लेकिन इसी दौरान यह आवाज पानी भरने पहुंची मृतक की बहू के कानों तक पहुंची और उसने परिजनों को आपबीती सुनायी। जबकि 5 वर्षीय बच्ची घटना के बाद सदमे में है।

राज्य में डायन -बिसाही के खिलाफ सख्त कानून है। जागरुकता अभियान भी चलाये जा रहे हैं इसके बावजूद अभी भी अंधविश्वास के चलते दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों में ऐसी कई घटनायें हो रही हैं। राज्य के अलग-अलग हिस्सों में पिछले तीन महीनों में इस तरह की घटनाओं में छह से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले लातेहार और गुमला में दंपति की हत्या की गयी थी।