Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में बोलेरो ने बाइक में पीछे से मारी टक्कर, दो IRB जवान समेत चार घायल, दो रिम्स रेफर, सड़क जाम||पलामू में ट्रक ने झामुमो नेता के रिश्तेदार को रौंदा||झारखंड में बड़ा सड़क हादसा, तीन की मौत, सात घायल||झारखंड में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 65.40 फीसदी वोटिंग, गिरिडीह और धनबाद में महिलाएं तो रांची और जमशेदपुर में पुरुषों ने मारी बाजी||बड़ी घटना को अंजाम देने आये अमन साहू गिरोह के चार शूटर चढ़े पुलिस के हत्थे||प्रेमी ने शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण, धोखा बर्दाश्त नहीं कर पायी प्रेमिका, की जान देने की कोशिश, मामला दर्ज||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला
Monday, May 27, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडपलामू

सरकार ने पलामू के तीन बड़े माओवादियों पर की इनाम की घोषणा, गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी पुलिस

रांची : राज्य सरकार ने पलामू के तीन माओवादियों पर इनाम की घोषणा की है इनमें छतरपुर के दो जोनल कमांडर और विश्रामपुर के एक सब-जोनल कमांडर के नाम शामिल हैं। अभिजीत यादव उर्फ सोनू यादव और गोदराई यादव उर्फ संजय यादव के नाम 10-10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है। ये दोनों माओवादी संगठन में जोनल कमांडर के पद पर हैं। जबकि नक्सली रवींद्र मेहता उर्फ छोटा व्यास पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

अभिजीत यादव उर्फ सोनू यादव पलामू जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र के गांव तिलैया का रहने वाला है। जबकि गोदराई यादव उर्फ संजय यादव देवगन गांव निवासी है। दोनों पर 10-10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है। दोनों माओवादी संगठन में जोनल कमांडर के पद पर हैं, जबकि एक नक्सली रवींद्र मेहता उर्फ छोटा व्यास विश्रामपुर प्रखंड के कौड़िया गांव का रहने वाला है, जिस पर पांच लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया है। रवींद्र मेहता सब जोनल कमांडर के पद पर हैं। तीनों काफी समय से फरार चल रहे हैं। हालांकि उनकी गिरफ्तारी के लिए पलामू पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, अभिजीत यादव और गोदराई यादव माओवादी संगठन के पहले सब-जोनल कमांडर थे। संगठन ने उन्हें जोनल कमांडर बनाया है, जबकि रवींद्र मेहता सहायक कमांडर था, जिसे सब-जोनल कमांडर बनाया गया है।

मालूम हो कि पलामू लंबे समय से माओवादियों का सुरक्षित ठिकाना रहा है। पलामू में तीन माओवादियों के फिर से दहशत फैलाने की कोशिश की सूचना है। ऐसे में पलामू पुलिस उनपर नकेल लगाने की पूरी कोशिश कर रही है। इन लोगों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। हाल के दिनों में पलामू पुलिस ने कई बड़े माओवादियों को पकड़ा है।