Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Sunday, June 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

जानिये झारखंड के नये राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन को……

झारखंड के नये राज्यपाल

रांची : सीपी राधाकृष्णन को झारखंड का नया राज्यपाल बनाया गया है। वे झारखंड के 11वें राज्यपाल होंगे। वह झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस का स्थान लेंगे। बैस को महाराष्ट्र का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है।

1998 में पहली बार भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीता

20 अक्टूबर, 1957 को तमिलनाडु के तिरुपुर जिले में एक साधारण परिवार में जन्मे, सीपी राधाकृष्णन 1973 में आरएसएस और जनसंघ में शामिल हो गये। उन्होंने 1998 के कोयम्बटूर बम विस्फोटों के बाद चुनाव लड़ा। 1998 और 1999 के आम चुनावों में उन्होंने भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीता। वह 2004, 2012 और 2019 में चुनाव हार गये थे।

तमिलनाडु में भाजपा के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक

सीपी राधाकृष्णन ने 2004 के चुनावों के लिए अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के साथ संबंध बनाने के लिए राज्य इकाई के साथ काम किया। 2012 में, राधाकृष्णन ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकर्ता पर हमला करने वाले दोषियों के खिलाफ निष्क्रियता का विरोध करने के लिए मेट्टुपालयम में गिरफ्तारी दी। वह दक्षिण और तमिलनाडु में भाजपा के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। 2014 में कोयंबटूर निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए भाजपा के उम्मीदवार के रूप में नामांकित किया गया। उन्होंने तमिलनाडु की दो बड़ी पार्टियों DMK और AIADMK के गठबंधन के बिना 3 लाख 89 हजार 000 से अधिक वोटों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया।

वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य

कोयम्बटूर से 2019 के चुनाव में एक बार फिर पार्टी का उम्मीदवार बनाया गया। वर्तमान में वे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हैं। उन्हें पार्टी के आलाकमान द्वारा केरल भाजपा का प्रभारी नियुक्त किया गया था। वह 2016 से 2019 तक अखिल भारतीय कॉयर बोर्ड के अध्यक्ष थे। यह सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय के अंतर्गत आता है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

झारखंड के नये राज्यपाल