Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडदक्षिणी छोटानागपुर

गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद

Gumla TSPC Militants Arrested

गुमला : गुमला पुलिस ने टीएसपीसी के चार उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। इनमें गुरदरी थाना के चोरकाखांड़ निवासी केश्वर लोहरा (36 ), गुमला थाना के सुगीटोली निवासी हीरा उरांव (36 ), घाघरा थाना के डुको निवासी नैका उरांव उर्फ छोटू (24) और लखीराम उरांव (35 ) शामिल है। इन उग्रवादियों के पास से पुलिस ने 315 बोर की चार राइफल, आठ एमएम का 86 गोली, दो मैगजीन, दो पिट्ठू और तीन मोबाइल बरामद की है।

गुमला एसपी शंभु कुमार सिंह ने अपने कार्यालय परिसर में शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि उग्रवादियों ने चार अप्रैल को घाघरा व सिसई प्रखंड के सीमावर्ती जलका स्थित उत्तरी कोयल नदी पर बन रहे पुल निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के साथ मारपीट की थी। घंटों बंधक बनाकर रखा था। इसके साथ ही पर्चा छोड़कर 25 लाख रुपये लेवी की मांग की थी। उग्रवादियों द्वारा पुल निर्माण कार्य बंद कराने के बाद आधा दर्जन गांव के ग्रामीणों ने उग्रवादियों के खिलाफ पारंपरिक हथियार उठा लिया था और पुल निर्माण शुरू कराया था।

एसपी ने बताया कि पुलिस भी उग्रवादियों की धर-पकड़ के लिए एसडीपीओ गुमला सुरेश प्रसाद यादव के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर इन चारों उग्रवादियों को गिरफ्तार किया था। एसपी ने बताया कि ये चारों पूर्व में भी जेल जा चुके हैं। उग्रवादी संगठन टीएसपीसी के नाम पर पुल निर्माण बंद कराने के बाद टीम गठन होने के बाद अनुसंधान शुरू किया गया। छापामारी के क्रम में सिसई थाना अंतर्गत ग्राम मेढ़ियाटोली मुरगू से 11 अप्रैल की रात को चारों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया। ये चारों उग्रवादी पूर्व में भाकपा माओवादी में थे। बाद में ये लोग जेजेएमपी में चले गये। इधर, कुछ महीनें पहले ये लोग टीएसपीसी संगठन में चले गये। इसके बाद घाघरा इलाके में संगठन का विस्तार करने में जुट गये थे, परंतु उससे पहले गुमला पुलिस ने टीएसपीसी संगठन को इस क्षेत्र में जड़ से खत्म कर दिया।

घाघरा-सिसई के सीमावर्ती कोयल नदी में पुल निर्माण बंद कराने के मामले में टीएसपीसी के उग्रवादियों को पकड़ने के लिए छह थाना की पुलिस को जिम्मेवारी दी गयी थी। इसके साथ ही एसडीपीओ सुरेश प्रसाद यादव के नेतृत्व में बनाये गये एसआइटी टीम में भी छह थाना के पुलिस अधिकारी शामिल थे। पुलिस ने उग्रवादियों को पकड़ने के लिए रणनीति तय की। इसके बाद इन उग्रवादियों को एक सप्ताह के अंदर पकड़ लिया और घाघरा, सिसई, बिशुनपुर व गुमला इलाके में टीएसपीसी संगठन को बढ़ने से रोक दिया। एसपी शंभू कुमार सिंह ने बताया कि पुल निर्माण मामले के उदभेदन के लिए गुमला जिलांतर्गत छह थानों की पुलिस समेत सैट व पुलिस केंद्र गुमला के जवानों ने मिलकर कार्य किया।

Gumla TSPC Militants Arrested