Breaking :
||‘स्वच्छता ही सेवा, एक तारीख-एक घंटा श्रमदान’ कार्यक्रम में राज्यपाल ने कहा- स्वस्थ समाज के लिए स्वच्छ वातावरण आवश्यक||झारखंड में 6 अक्टूबर तक होगी भारी बारिश, कुछ जिलों के लिए येलो तो कुछ के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे बाबूलाल, कहा- भाजपा की सरकार बनी तो छह महीने में भरे जायेंगे सभी रिक्त पद||पलामू: किशोर के साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार, जेल||पलामू: अनियमितता बरतने के आरोप में चार राशन डीलरों के लाइसेंस निलंबित||पूर्वी सिंहभूम बना डेंगू और रांची चिकनगुनिया का हॉटस्पॉट, जानिये किस जिले में अब तक मिले कितने मरीज||जड़ से खत्म कर दिया जायेगा झारखंड से नक्सलवाद : राज्यपाल||लातेहार: स्कूलों में शिक्षकों की कमी के खिलाफ मनिका में छात्रों व अभिभावकों ने किया प्रदर्शन||झारखंड में 15 सीओ की ट्रांसफर-पोस्टिंग, अधिसूचना जारी||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 12 प्रतीक्षारत अधिकारियों की पोस्टिंग
Sunday, October 1, 2023
BIG BREAKING - बड़ी खबरगारूपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: पलामू टाइगर रिजर्व से चार देशी बन्दूक के साथ पारा शिक्षक समेत चार तस्कर गिरफ्तार, कीमती लकड़ियां जब्त

लातेहार : वन विभाग की टीम ने पलामू टाइगर रिजर्व अंतर्गत गारू पश्चिमी वन प्रक्षेत्र के सुरकुमी गांव में कई जगहों पर छापेमारी कर करीब 10 लाख रुपये मूल्य का कीमती चिरान पटरा जब्त किया है। गारू पश्चिमी वन क्षेत्र के सुरकुमी जंगलों में वन माफियाओं द्वारा लगातार सागवान के पेड़ों को काटकर बेचा जा रहा था। इसी सूचना के आधार पर पश्चिमी वन क्षेत्र के रेंजर तरूण कुमार सिंह ने एक टीम गठित कर सुरकुमी गांव में छापेमारी की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस दौरान किसुन ब्रिजिया, बालेश्वर लोहरा, गारू निवासी रमेश कुमार गुप्ता और सुरकुमी गांव के गौतम कुमार को करीब 10 लाख रुपये की लकड़ी और चार देसी बंदूक (भरथुआ) के साथ गिरफ्तार कर वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। इसके बाद सभी आरोपियों को बुधवार को न्यायिक हिरासत में लातेहार जेल भेज दिया गया।

इस संबंध में रेंजर ने बताया कि गारू निवासी रमेश कुमार गुप्ता और गौतम कुमार लंबे समय से जंगल से सागवान, शिसम और बीआ की कीमती लकड़ी काट कर बाहर बेचते थे। इसके अलावा, वे सुरकुमी गांव के भोले-भाले आदिवासी युवाओं को पैसे का लालच देकर कम कीमत पर लकड़ी खरीदकर ऊंचे दाम पर बेचते थे।

गौरतलब है कि रमेश कुमार गुप्ता सुरकुमी विद्यालय में पारा शिक्षक हैं। शिक्षक की आड़ में वे बहुमूल्य वृक्षों को काटकर वन संपदा को भी नुकसान पहुंचा रहे थे।

मौके पर वनपाल प्रेमजीत तिवारी, अमृत कुमार, वनरक्षी अरुण कुमार, विशाल कुमार सिंह, पंकज पाठक, बिपिन कुमार समेत काफी संख्या में वन कर्मी मौजूद थे।

Palamu Tiger Reserve News