Breaking :
||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरगारूपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: पलामू टाइगर रिजर्व से चार देशी बन्दूक के साथ पारा शिक्षक समेत चार तस्कर गिरफ्तार, कीमती लकड़ियां जब्त

लातेहार : वन विभाग की टीम ने पलामू टाइगर रिजर्व अंतर्गत गारू पश्चिमी वन प्रक्षेत्र के सुरकुमी गांव में कई जगहों पर छापेमारी कर करीब 10 लाख रुपये मूल्य का कीमती चिरान पटरा जब्त किया है। गारू पश्चिमी वन क्षेत्र के सुरकुमी जंगलों में वन माफियाओं द्वारा लगातार सागवान के पेड़ों को काटकर बेचा जा रहा था। इसी सूचना के आधार पर पश्चिमी वन क्षेत्र के रेंजर तरूण कुमार सिंह ने एक टीम गठित कर सुरकुमी गांव में छापेमारी की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस दौरान किसुन ब्रिजिया, बालेश्वर लोहरा, गारू निवासी रमेश कुमार गुप्ता और सुरकुमी गांव के गौतम कुमार को करीब 10 लाख रुपये की लकड़ी और चार देसी बंदूक (भरथुआ) के साथ गिरफ्तार कर वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। इसके बाद सभी आरोपियों को बुधवार को न्यायिक हिरासत में लातेहार जेल भेज दिया गया।

इस संबंध में रेंजर ने बताया कि गारू निवासी रमेश कुमार गुप्ता और गौतम कुमार लंबे समय से जंगल से सागवान, शिसम और बीआ की कीमती लकड़ी काट कर बाहर बेचते थे। इसके अलावा, वे सुरकुमी गांव के भोले-भाले आदिवासी युवाओं को पैसे का लालच देकर कम कीमत पर लकड़ी खरीदकर ऊंचे दाम पर बेचते थे।

गौरतलब है कि रमेश कुमार गुप्ता सुरकुमी विद्यालय में पारा शिक्षक हैं। शिक्षक की आड़ में वे बहुमूल्य वृक्षों को काटकर वन संपदा को भी नुकसान पहुंचा रहे थे।

मौके पर वनपाल प्रेमजीत तिवारी, अमृत कुमार, वनरक्षी अरुण कुमार, विशाल कुमार सिंह, पंकज पाठक, बिपिन कुमार समेत काफी संख्या में वन कर्मी मौजूद थे।

Palamu Tiger Reserve News