Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरकोल्हान प्रमंडलझारखंड

झारखंड: एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर शव रेल पटरी पर फेंका, एक नाबालिग अपराधियों के चंगुल से बचकर भागी

Jharkhand Big News Today

पश्चिमी सिंहभूम : राज्य के पश्चिमी सिंहभूम जिले के हाटगम्हरिया थाना क्षेत्र के नुरदा गांव के टुंगूवासा में रेल पटरी पर शनिवार को लहूलुहान चार लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गयी। लोगों ने शुक्रवार आधी रात बाद करीब 2ः30 चक्रधरपुर रेल मंडल के केंदपोसी तालाबुरु डाउन लाइन पर यह ह्रदय विदारक दृश्य देखा। रेलवे अधिकारियों ने सूचना मिलते ही ट्रेनों का संचालन रोक दिया।

चारों शव एक से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर अलग-अलग स्थान पर मिले। जीआरपी और रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों का कहना है कि अभी यह साफ नहीं है कि इन लोगों ने आत्महत्या की या इनकी हत्या हुई है। अधिकारियों ने कहा कि इनमें एक पुरुष, एक महिला और एक बच्चे के शव क्षत-विक्षत हालत में रेल पटरी पर मिले। चौथा शव बंधे हुए बोरे में मिला। जांच में स्थानीय थाना क्षेत्र की पुलिस की मदद भी ली जा रही है।

बताया जाता है कि अज्ञात अपराधियों ने एक ही परिवार के पांच सदस्यों की हत्या करने का योजना बनायी थी। योजना के अनुसार अपराधियों ने पहले दो मासूम बच्चों को बोरा में बांध दिया, फिर महिला और पुरुष को गांव के पास जंगल स्थित एक इमली के पेड़ में बांध कर जमकर पिटायी की, जिससे उनकी मौत हो गयी। हालांकि, 14-15 साल की उनकी बेटी अपराधियों के चंगुल से बच कर किसी तरह जान बचाकर भागी। वह अभी भी सहमी हुई है।

इस घटना का खुलासा तब हुआ जब मृतका के भसुर जुबंल सिंकु ने घटनास्थल पर पहुंच कर पुलिस को बताया कि यह उसके छोटे भाई बिनू सिंकु की पत्नी है। इसके तीन बच्चे हैं। इसने आत्महत्या नहीं किया है, बल्कि इसकी हत्या हुई है। उसने पुलिस से वारदात वाली इमली का पेड़ चलकर दिखाने की बात भी कही। साथ ही कहा कि मृतका की एक बेटी को हम किसी तरह जान बचाकर लेकर भागे और थाने पहुंचाया। जुबंल ने यह भी कहा कि डायन बिसाही का आरोप लगाकर पूर्व में झगड़ा भी किया गया था, जिसकी लिखा-पढ़ी गांव में मुण्डा के समक्ष हुई है। उसने यह भी कहा कि उसे एक हत्यारे का नाम पता है।

रेल पटरी पर मिले चार शवों के संबंध में जगन्नाथपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एसडीपीओ राकेश नंदन मिंज ने बताया कि अज्ञात अपराधियों ने हत्या कर इसे दूसरा रूप देने का प्रयास किया है। घटनास्थल का जायजा लेने से प्रतीत होता है कि किसी अन्य स्थान पर पहले हत्या की गयी है। इसके बाद शवों को रेल पटरी फेंका गया, ताकी लोग समझें कि ट्रेन से कटकर आत्महत्या किया है। वारदात की जांच की जा रही है।

Jharkhand Big News Today