Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

सदन की कार्यवाही बाधित करने के आरोप में भाजपा के चार विधायक निलंबित

रांची : झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन आज स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने चार विधायकों को सदन की कार्यवाही से 4 अगस्त तक के लिए निलंबित कर दिया है। इनमें जयप्रकाश भाई पटेल, रणधीर सिंह, भानु प्रताप शाही और ढुल्लू महतो शामिल हैं। इन पर सदन की कार्यवाही में बाधा डालने का आरोप है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दरअसल, सदन की कार्यवाही शुरू होते ही भाजपा विधायक सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। सदन के प्रश्नकाल की शुरुआत सरयू राय के हरमू नदी से संबंधित प्रश्न से हुई। उसके बाद भाजपा के अनंत ओझा ने शुक्रवार को सरकारी स्कूलों को बंद करने पर सवाल उठाया। इसका जवाब देते हुए मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि यह मामला सरकार के संज्ञान में आते ही कार्रवाई की गई है।

इस दौरान भाजपा सदस्य मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस्तीफे की मांग को लेकर नारेबाजी करते रहे। लगातार नारेबाजी करते हुए विपक्षी भाजपा के सदस्य वेल में चले गए।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्पीकर ने उन्हें शांत करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि कल पूरे देश ने उन लोगों के आचरण को देखा, भाई आज भी विपक्षी सदस्य उसी तरह हंगामा कर रहे हैं। उन्हें विरोध करने के लिए शब्दों का प्रयोग करना चाहिए लेकिन उनकी वजह से अन्य पार्टी के लोग भी प्रभावित हो रहे हैं। स्पीकर ने कहा कि ऐसा नहीं किया जाना चाहिए जिससे दूसरे लोगों को भी बुरा लगे।

जब अध्यक्ष के बार-बार विपक्षी सदस्यों के प्रयास सफल नहीं हुए, तो उन्होंने भाजपा के चार सदस्यों को निलंबित करने का निर्देश दिया।