Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में नकली नोट के साथ पांच गिरफ्तार, नेपाल और कोलकाता से जुड़े हैं तार

50 हजार देने पर मिलते हैं एक लाख रुपये के नकली नोट

पलामू : जिले में नकली नोट चलाने वाला एक गिरोह सक्रिय है। पुलिस ने ऐसे गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। सभी को रेलवे स्टेशन जाने वाली सड़क पर रेड़मा ओवरब्रिज के नीचे चाय दुकान से हिरासत में लिया गया है। सूचना है कि इनके पास से 29 हजार रुपये के नकली नोट बरामद किये गये हैं। हिरासत में लिए गये लोगों में दो मोहम्मदगंज, एक तरहसी और दो मेदिनीनगर शहरी क्षेत्र के हैं। पुलिस सभी आरोपियों से कई स्तरों पर पूछताछ कर रही है। संभावना है कि जल्द ही इस मामले का खुलासा हो जायेगा।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि शहर में जाली नोट चलाने वाला गिरोह घुस आया है। पुलिस ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी और जांच शुरू कर दी। इसी क्रम में संदेह के आधार पर रेड़मा ओवरब्रिज के नीचे एक चाय दुकान में कुछ लोगों को चाय पीते हुए पकड़ा गया। तलाशी लेने पर उनके पास से 29 हजार रुपये के नकली नोट बरामद हुए। जानकारी मिली है कि सभी नोट 500-500 रुपये के बरामद किये गये हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में गिरोह के सदस्यों ने बताया कि 50 हजार रुपये के एक नंबर के नोट देने पर उन्हें एक लाख रुपये तक के नकली नोट मिल जाते थे। सभी नकली नोट लगभग असली नोटों से मेल खाते थे। इस कारण ये जल्दी पकड़ में नहीं आते। पुलिस को मिले इनपुट के मुताबिक इसके तार नेपाल और कोलकाता से जुड़े हैं। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है। शहर में नकली नोटों के कारोबार में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी जांच की जा रही है। नकली नोटों के खिलाफ इस कार्रवाई को पुलिस बड़ी सफलता मान रही है।