Breaking :
||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

रांची: खादगढ़ा बस स्टैंड में खड़ी आठ बसों में लगी आग, साजिश या हादसा जांच में जुटी पुलिस

रांची : राजधानी के कांटाटोली खादगढ़ा बस स्टैंड में पहले पांच बसों में आग लगी, फिर एक घंटे के अंदर तीन और बसें भी आग की चपेट में आ गयीं। आग इतनी भीषण थी कि दूर-दूर तक लपटें दिखायी दे रही थीं।

घटना गुरुवार दोपहर एक बजे की है। पहले पांच बसों में आग लगी, जिस पर काबू पा लिया गया। करीब एक घंटे बाद फिर तीन बसों में आग लग गयी। आग की चपेट में निशांत ट्रैवलर्स, मां भवानी ट्रैवल्स, राधेश्याम और एलडी मोटर्स कंपनी की बसें आयी हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पहले दो बसों में आग लगी। तभी दूर खड़ी दो और बसों में आग लग गयी। यह किसी साजिश की ओर इशारा कर रहा है। खड़गड़ा बस स्टैंड के सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। आग पर काबू पाने के बाद कुछ ही घंटों में तीन और बसें आग की चपेट में आ गयीं। आग की सूचना तुरंत अग्निशमन विभाग को दी गयी। दो गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और आग पर काबू पाने की कोशिश की। एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

इस हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है, लेकिन आठ गाड़ियों को काफी नुकसान हुआ है। गाड़ी के ड्राइवर और अन्य कर्मचारी भी हैरान हैं कि आग ने इतना भयावह रूप कैसे ले लिया। आग लगने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। इससे पहले भी ऐसे कई हादसे हो चुके हैं।