Breaking :
||चतरा समेत इन चार लोकसभा सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों को विरोधियों से अधिक अपनों से खतरा||झारखंड: पहले चरण के चुनाव में पलामू समेत इन चार लोकसभा सीटों पर युवा मतदाता निभायेंगे निर्णायक भूमिका||आय से अधिक संपत्ति मामले में निलंबित चीफ इंजीनियर वीरेंद्र राम के पिता और पत्नी के खिलाफ कुर्की वारंट का इश्तेहार जारी||पलामू लोकसभा: शीर्ष माओवादी कमांडर रहे कामेश्वर बैठा समेत तीन उम्मीदवारों ने किया नामांकन||पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जमानत याचिका पर कल होगी सुनवाई||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, शादी समारोह से लौट रही कार पेड़ से टकरायी, पति की मौत, पत्नी और पोते की हालत नाजुक||लातेहार: सिरफिरे युवक ने दो महिलाओं समेत पिता को कुल्हाड़ी से काट डाला, गिरफ्तार||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये
Wednesday, April 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचंदवालातेहार

अभिजीत पावर प्लांट में लगी आग, दमकल की मदद से पाया गया काबू

लातेहार : चंदवा प्रखंड की चकला पंचायत के बाना गांव में पिछले कई वर्षों से बंद पड़े अर्धनिर्मित अभिजीत पावर प्लांट परिसर में गुरुवार की दोपहर आग लग गयी। आग बहुत तेजी से फैलने लगी। यहां मौजूद कर्मियों ने तुरंत दमकल विभाग को सूचना दी। लातेहार से दमकल की गाड़ियां आई और आग पर काबू पाया।

जानकारी के अनुसार प्लांट परिसर में नीचे पड़े लोहे को नीलाम कर दिया गया है। स्क्रैपर कंपनी द्वारा स्क्रैप उठाने का काम जारी है। इस कबाड़ को गैस कटर से काटने के लिए चिंगारी से यह आग फैल गई। हालाँकि, यह जल्द ही बुझ गया था।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उल्लेखनीय है कि इन दिनों उक्त संयंत्र परिसर में कबाड़ उठाने को लेकर काफी अनियमितता बरती जा रही है। इसको लेकर मुख्य बिजली कर्मचारियों ने भी अपना विरोध जताया है। इसके अलावा स्थानीय विस्थापित रैयतों ने भी कबाड़ उठाने के मुद्दे को लेकर दिल्ली सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इसके साथ ही यहां चोरी की घटना भी सामने आ रही है। इन सभी कारणों से आग लगने की खबर तेजी से फैली।

आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब प्लांट परिसर में आग लगी हो। प्लांट परिसर स्थित ऑफिस में पहले भी आग लगी थी, जिसमें काफी नुकसान हुआ था। कार्यालय में रखे कई महत्वपूर्ण कागजात व दस्तावेज जलकर नष्ट हो गए। दूसरी बार भी पूरे प्लांट परिसर में भीषण आग लगी, जिससे काफी नुकसान हुआ।