Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

महिला कैदी ने जेल के दो कर्मियों पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, महिला आयोग को लिखा पत्र

रांची : खूंटी जेल में बंद महिला बंदी की ओर से राष्ट्रीय महिला आयोग को पत्र लिखने का मामला गुरुवार को प्रकाश में आया है। पत्र में महिला बंदी ने खूंटी जेल के दो कर्मचारियों पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। साथ ही गर्भवती होने पर अबॉर्सन कराने का भी आरोप लगाया है। महिला बंदी ने आरोप लगाया है कि जेल के कर्मचारी बंदी पत्र लिखने की अनुमति नहीं देते है। इस वजह से रिहा होने वाले महिला बंदी के माध्यम से पत्र लिखा है।

अपने पत्र में महिला ने बताया है कि वह लुधियाना की रहने वाली है। लेकिन पुश्तैनी घर खूंटी में ही है। पुलिस ने उसे सात फरवरी 2024 को अफीम तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसने पत्र में लिखा है कि जेल के दोनों कर्मचारियों ने छोड़ने का प्रलोभन देकर एक माह तक उसके साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान जब वह गर्भवती हो गयी, तो पहले उसे जान से मारने और जेल में ही सड़ा देने की धमकी दी गयी। फिर गर्भपात करा दिया गया।

महिला का आरोप है कि गर्भपात कराने की तारीख बैकडेट से तीन माह पहले दिखाया गया है। महिला ने आयोग से मांग की है कि उसके आरोपों की जांच की जाये। साथ ही उसके मेडिकल रिपोर्ट की जांच विशेष टीम से करायी जाये। महिला ने पत्र ने लिखा है कि जिन दो जेल कर्मियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया है, उसमें से एक छह साल से और दूसरा आठ साल से खूंटी जेल में ही पदस्थापित है। दोनों जेलकर्मी उसके अलावा दूसरी महिला बंदियों के साथ गलत काम किया है।

इस संबंध में खूंटी डीसी लोकश मिश्रा ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीओ के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया है। टीम में महिला डाक्टर और महिला मजिस्टेड को शामिल किया गया है। जांच कर रिपोर्ट मांगा गया है।

वहीं दूसरी ओर इस संबंध में जेल आईजी सुदर्शन मंडल ने बताया कि इस तरह का मामला मेरे जानकारी में नहीं आया है। अगर ऐसा है तो मामले की जांच होगी।

Female prisoner accuses jail employees Khunti