Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: अनियंत्रित कार के धक्के से ससुर-दामाद घायल, पुलिस ने पेश की मिसाल

पलामू : मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के जेलहाता इलाके में एक तेज रफ्तार अनियंत्रित कार ने सड़क किनारे नाश्ता कर रहे ससुर और दामाद को टक्कर मार दी। साथ ही पांच गाड़ियों में टक्कर मारते हुए सेंट्रल जेल की दीवार से टकरा गयी। घटना के बाद पुलिस ने जहां घायल ससुर-दामाद को एमएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया, वहीं कार को जब्त कर लिया है। चालक को शहर थाना लाया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि रेहला थाना क्षेत्र के सुलुमदाग के रहने वाले उपेंद्र राम जेलहाता (35) इलाके में डॉक्टर अरुण शुक्ला के अस्पताल में अपने ससुर सीता राम के हाथ का प्लास्टर हटवाने के लिए आया था। अस्पताल में नंबर लेट रहने के कारण ससुर और दामाद दोनों सड़क किनारे नाश्ता कर रहे थे। इसी क्रम में एक तेज रफ्तार वैगनआर कार ने दोनों को चपेट में लेते हुए पांच गाड़ियों में टक्कर मारते हुए सेंट्रल जेल की दीवार से टकरा गयी।

बताया जाता है कि जेलहाता इलाके के सूर्य प्रताप सिंह के पुत्र ने तेजी एवं लापरवाही से कार चलाते हुए इस घटना को अंजाम दिया।

एंबुलेंस का इंतजार ना कर अपनी गाड़ी में दोनों घायलों को एमएमसीएच ले जाने में टीओपी वन के प्रभारी रेवा शंकर राणा और उनके जवानों ने मदद की। एमएमसीएच में स्ट्रेचर पर लादकर इलाज के लिए भर्ती कराया। टीओपी वन के प्रभारी रेवा शंकर राणा और उनकी सभी टाइगर टीम ने कर्तव्यपरायणता की मिसाल पेश की।

Palamu Latest News Today