Breaking :
||रांची में बाइक सवार बदमाशों ने पति-पत्नी को मारी गोली, दोनों की मौत||TSPC के जोनल कमांडर ने किया बड़ा खुलासा, झारखंड में हिंसा फैलाने के लिए खरीद रहा था विदेशी हथियार||भारत-इंग्लैंड टेस्ट मैच को लेकर बल्लेबाज शुबमन गिल ने पत्रकारों से कहा- रांची में ही सीरीज जीतने के लिए हम तैयार||पलामू: बच्चों को आशीर्वाद देने निकले किन्नरों से मारपीट, आक्रोश||झारखंड: प्रेमी ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने दे दी जान||गढ़वा: JJMP के उग्रवादियों ने पुल निर्माण स्थल पर मचाया उत्पात, मशीनों में की तोड़फोड़, मजदूरों से मारपीट||झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 23 फरवरी से, स्पीकर ने की उच्च स्तरीय बैठक||विधायक भानु प्रताप शाही एससी-एसटी एक्ट में बरी, चार लोगों को छह-छह माह कारावास की सजा||रांची पहुंची भारत और इंग्लैंड की टीमें, पारंपरिक अंदाज में हुआ स्वागत||लातेहार: ईंट भट्ठा पर फायरिंग कर अपराधियों ने फैलायी दहशत, कर्मियों को पीटा, संचालक को दी चेतावनी
Thursday, February 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू पुलिस ने किया खुलासा, पश्चिम बंगाल से लाकर खपाये जा रहे थे नकली नोट, चार आरोपी गिरफ्तार

पलामू : नकली नोट के कारोबार रोकने को लेकर चलाए जा रहे हैं अभियान में मेदिनीनगर शहर थाना पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए कचहरी ओवरब्रिज के पास से 58 पीस 500 के नकली नोट के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया है। सभी तस्करों को रविवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अभय कुमार सिन्हा ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों में मोहम्मदगंज के निवासी विमलेश कुमार और संदीप कुमार, मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के कांदू मुहल्ला के राजीव रंजन उर्फ मुकेश दुबे एवं सदर थाना क्षेत्र के बिजली ऑफिस के पीछे के नरेश सिंह शामिल है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि नकली नोट बरामद होने के बाद उसकी पहचान कचहरी स्थित एसबीआई में ब्रांच के शाखा प्रबंधक से करायी गयी। उन्होंने नकली नोट होने की पुष्टि की। इसके बाद सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया।

थाना प्रभारी ने बताया कि चारों में से राजीव रंजन उर्फ मुकेश दुबे मास्टरमाइंड है। सारे नकली नोट पश्चिम बंगाल के मालदा से मंगाये जाते हैं और उसे शहरी क्षेत्र में खपाया जाता है। नकली नोट के कारोबार में जुड़े अन्य लोगों के बारे में कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तारी अभियान में टीओपी 1 के प्रभारी रेवा शंकर राणा टीम के साथ शामिल थे।