Breaking :
||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत||बालूमाथ: शार्ट सर्किट से हाइवा वाहन में लगी आग, जलकर राख||बालूमाथ: महिला का अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ठगे सात लाख रुपये, गिरफ्तार||बालूमाथ: सरस्वती पूजा को लेकर निकाली गयी शोभायात्रा पर मधुमक्खियों का हमला, मची अफरा-तफरी||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा पांच हाइवा जब्त, तीन गिरफ्तार||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित

मनिका में हाथियों ने दूसरे दिन भी मचाया उत्पात, 3 मवेशियों की पटक कर ली जान, दो घायल

खलिहान में रखे 5 किसानों के लगभग 40 क्विंटल धान को खाया और बर्बाद किया

झुंड में चल रहे है हाथी

लातेहार : मनिका थाना क्षेत्र के मटलोंग पंचायत के माइल गांव स्थित कंनडेरा टोला में हाथियों के झुंड ने जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान हाथियों ने तीन मवेशियों को पटक कर मार डाला और दो मवेशियों को घायल कर दिया। वहीं खलिहान में रखे कई एक क्विंटल धान को खाया और बर्बाद कर दिया।

कंनडेरा टोला निवासी उमेश सिंह के खलिहान से लगभग 4 क्विंटल धान को खाकर बर्बाद किया। वही रामसेवक सिंह के एक बैल को पटक पटक कर मार डाला और पास ही खेत में लगे आलू की फसल को पूरी तरह से नष्ट कर दिया।

इसी गांव के रविंद्र सिंह के एक बैल को पटक कर घायल कर दिया जिससे बैल का पैर टूट गया है। वही कोलकान सिंह के 1 गाय को पटक कर मार डाला और दूसरी गाय को बुरी तरह से घायल कर दिया और खलिहान में रखे धान को बर्बाद कर दिया। ग्रामीण राम अवतार सिंह के एक बैल को भी पटक-पटक कर मार डाला और खलिहान में रखे लगभग 25 क्विंटल धान को बर्बाद कर दिया।

ग्रामीणों ने बताया कि जुंगुर गांव की तरफ से 15-16 की संख्या में आए हाथियों के झुंड ने एकाएक गांव में आये और मवेशियों पर हमला कर दिया। मवेशियों को तो मारा ही साथ में धान व फसलों को बर्बाद कर हमारी मेहनत पर भी पानी फेर दिया।

सूचना के बाद वन विभाग की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटना का मुआयना किया और सरकारी प्रावधान के अनुसार मुआवजे दिलाने की बात कहीं।

वनपाल ललन उरांव ने बताया कि गांव में रात्रि के समय लोग सतर्क रहें और हाथी आने की आहट पाकर मसाल और पटाखा छोड़कर हाथियों को भगाने का प्रयास करे। गांव में महुआ का शराब नहीं बनाएं, नहीं तो शराब की गंध पाकर हाथी गांव की तरफ प्रवेश करते हैं।

मौके पर समाजसेवी कामेश्वर सिंह, नंदकिशोर यादव, राज किशोर सिंह, गुड्डू सिंह ने जिले के उपायुक्त से मुआवजे की मांग की है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *