Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरकोल्हान प्रमंडलझारखंड

चाईबासा में नक्सलियों के आठ कैंप ध्वस्त, आपत्तिजनक सामान बरामद

पश्चिमी सिंहभूम : गोइलकेरा-मनोहरपुर सीमा क्षेत्र के गम्हरिया पंचायत के अंबिया गांव के जंगल में रविवार को पश्चिम सिंहभूम जिले की पुलिस और सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाया। हालांकि नक्सलियों को पुलिस के आने की भनक लग गयी।

सुरक्षाबलों ने इस दौरान पहाड़ी पर बने नक्सलियों के आठ कैंपों को ध्वस्त करते हुए 21 चूल्हे को नष्ट किया। इसके साथ ही 28 टेंट, डेटोनेटर, सीरिंज और बिजली के तार भी बरामद किये गये हैं। पुलिस के मुताबिक, नक्सलियों का टॉप लीडर और एक करोड़ के इनामी नक्सली मिसिर बेसरा की टीम वहां मौजूद थी। इस दस्ते को पकड़ने के लिए पुलिस और सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन जारी है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के अनुसार जंगल में छिपे भाकपा माओवादी नेता मिसिर बेसरा समेत उसके दस्ते को पकड़ने की योजना के तहत जिला बल, झारखंड जगुआर और सीआरपीएफ की तीन बटालियन के सुरक्षा बलों ने रविवार को कार्रवाई की। बताया गया कि इनामी नक्सली मिसिर बेसरा की इस टीम में अमित मुंडा, अजय महतो, अनमोल, मोछू, चमन, कांडे, सागेन अंगरिया व अश्विन समेत करीब 30-35 नक्सली मौजूद थे। जैसे ही पुलिस और सुरक्षाबलों को आने का पता चला, यह दस्ता वहां से भाग खड़ा हुआ।

अंबिया गांव के जंगल में मिसिर बेसरा के दस्ते द्वारा मोर्चा गठित करने की सूचना पुलिस को मिली थी, जिसके बाद वहां तलाशी अभियान शुरू किया गया। सुरक्षाबलों ने पाया कि नक्सली दस्ते के लोगों ने पेड़ की सूखी टहनियों और पत्तियों के सहारे मोर्चा बना रखा है। पिछले कई दिनों से वे इसी मोर्चे पर सुरक्षाबलों पर घात लगाने के लिए जमे हुए थे। यहां भोजन आदि की व्यवस्था थी। आशंका जतायी जा रही है कि इस दस्ते में कुछ महिला नक्सली भी शामिल थीं।

नक्सलियों के खिलाफ लगातार चलाया जा रहा है अभियान : एसपी

इस संबंध में एसपी आशुतोष शेखर ने बताया कि जिला पुलिस व सुरक्षाबलों द्वारा 11 जनवरी से नक्सलियों के खिलाफ लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इस तलाशी अभियान के दौरान जंगल की पहाड़ी पर नक्सली दस्ते द्वारा बनाये गये मोर्चा आदि बरामद किये गये हैं। बरामद मोर्चा व अन्य सामान को मौके पर ही नष्ट कर दिया गया है।