Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

शिक्षा सचिव ने दी चेतावनी, कहा- नहीं चलेगी बहानेबाजी बच्चों की पढ़ाई से कोई समझौता नहीं

रांची : शिक्षा सचिव के रविकुमार ने कहा कि राज्य सरकार सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने और रिजल्ट सुधारने के लिए लगातार काम कर रही है। अब शिक्षा विभाग शिक्षकों पर नकेल कसने की तैयारी में है।

शिक्षा सचिव के रविकुमार ने राज्य के सभी डीईओ और डीएसई के साथ बैठक कर सख्त हिदायत दी है कि बच्चों की पढ़ाई को लेकर कोई समझौता नहीं किया जायेगा।

उन्होंने डीईओ-डीएसई से साफ कहा कि बहानेबाजी नहीं चलेगी। बच्चों का रिजल्ट बेहतर आना चाहिए। कोडरमा के स्कूलों ने अपनी योजनाओं पर काम किया और नतीजा बेहतर रहा। अगर कोडरमा के सरकारी स्कूल ऐसा कर सकते हैं तो दूसरे सरकारी स्कूल ऐसा क्यों नहीं कर सकते। इसके लिए योजना बनानी होगी और उस पर अमल कर अच्छे परिणाम की तैयारी करनी होगी।

उन्होंने कहा कि विभाग ने सभी उत्कृष्ट विद्यालयों को सीसीटीवी से लैस करने की योजना बनायी है। इन कैमरों से स्कूल की लाइव मॉनिटरिंग की जायेगी। उत्कृष्ट विद्यालय में सीसीटीवी लगाने का कार्य अब अंतिम चरण में है। अगले चरण में 335 मॉडल स्कूलों में कैमरे लगाने की योजना है।

रवि कुमार ने कहा कि झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा एक पोर्टल बनाया जायेगा। कोई भी अधिकारी इस पोर्टल पर लॉगइन करने के बाद इन विद्यालयों की गतिविधियों को देख व निरीक्षण कर सकता है।

Jharkhand Education Department News