Breaking :
||JOB: झारखंड में सीडीपीओ के 64 पदों पर होगी भर्ती, जानिये डिटेल||लातेहार: पेड़ से गिरकर घायल युवक की रिम्स ले जाते समय रास्ते में मौत||बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, तस्वीरें||Good News: 12 जून से शुरू होगा बरकाकाना-वाराणसी BDM सवारी गाड़ी का परिचालन||लातेहार: जिले में 10 जून से 15 अक्टूबर तक बालू उठाव पर पूर्ण प्रतिबंध||आदिम जनजातियों के विकास बिना राज्य का विकास संभव नहीं : राज्यपाल||10 दिनों के अंदर झारखंड में प्रवेश करेगा मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी राहत||स्थानीय नीति के विरोध में 10 और 11 जून को झारखंड बंद का आह्वान||गुमला: रांची सेंट जेवियर्स स्कूल के प्रिंसिपल की अनियंत्रित कार ने कई लोगों को रौंदा, तीन महिला समेत चार की मौत, तस्वीरें||पलामू: शीर्ष माओवादी अभिजीत यादव और प्रसाद यादव के ठिकानों पर NIA की छापेमारी

पंचतत्व में विलीन हुए शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, मुख्यमंत्री ने दिया कंधा, टाइगर को नम आंखों से लोगों ने दी अंतिम विदाई, देखें तस्वीरें

शवयात्रा में बड़ी संख्या में जुटे विभिन्न दलों के नेता-कार्यकर्ता

रांची/बोकारो : झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो शुक्रवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। बोकारो जिले के चंद्रपुरा प्रखंड के भण्डारीदह के समीप दामोदर नदी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके पुत्र अखिलेश महतो उर्फ राजू महतो ने मुखाग्नि दी।

अंत्येष्टि में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, स्पीकर रवींद्रनाथ महतो, मंत्री मिथिलेश ठाकुर, सत्यानंद भोक्ता, बादल पत्रलेख, राज्यसभा सांसद महुआ माजी समेत विभिन्न दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी।

डुमरी विधानसभा से लगातार चार बार प्रतिनिधित्व करने वाले टाइगर उपनाम से विख्यात झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार में शिक्षा मंत्री रहे जगरनाथ महतो का पार्थिव शरीर चेन्नई से बोकारो स्थित उनके घर पर लाया गया। अपने लोकप्रिय नेता की अंतिम एक झलक पाने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

चेन्नई से शुक्रवार सुबह लगभग 7.30 बजे जगरनाथ महतो का शव पहले रांची लाया गया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी उनकी पार्थिव देह को कंधा दिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री फफक कर रो पड़े। वहां से जगरनाथ महतो के पार्थिव शरीर को बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से सीधे विधानसभा परिसर लाया गया।

विधानसभा में स्पीकर रवींद्र नाथ महतो, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, केंद्रीय राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी, मंत्री आलमगीर आलम, चंपई सोरेन, सत्यानंद भोक्ता, बन्ना गुप्ता, मिथिलेश कुमार ठाकुर, बादल, हफीजुल हसन, सांसद विजय हांसदा, राज्यसभा सांसद महुआ माजी और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

विधानसभा के बाद पार्थिव शरीर को हरमू रोड स्थित झामुमो के कैंप कार्यालय में ले जाया गया, जहां पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन, कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन समेत झामुमो के नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। झामुमो कार्यालय के बाद जगरनाथ महतो के पार्थिव शरीर को बोकारो स्थित भंडारीदह स्थित उनके पैतृक गांव ले जाया गया, जहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मंत्री जगरनाथ महतो के पैतृक गांव अलारगो पहुंचे। उनके साथ विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र महतो भी थे। दोनों ने जगरनाथ महतो के परिजनों से मुलाकात की ।

जगरनाथ महतो के पार्थिव शरीर को कंधा देने के बाद ट्वीट कर सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि टाइगर जगरनाथ दा ने झारखंड और झारखंडियत की रक्षा के संघर्ष में हमेशा साथ निभाया, उसे जीतना सिखाया. झारखंड की माटी के वीर सपूत जगरनाथ महतो अमर रहें।

जगरनाथ महतो को नमन करते हुए भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा -अंतिम प्रणाम जगरनाथ जी। झारखंड में सदैव आपकी कमी खलेगी। आपका जमीन से जुड़ाव, जनता के प्रति स्नेह और सबसे महत्वपूर्ण कभी हार ना मानने की जीवटता हमेशा लोगों को प्रेरणा प्रदान करती रहेगी।

गौरतलब हो कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (56) का गुरुवार सुबह 6:30 बजे चेन्नई के एमजीएम अस्पताल में निधन हो गया था। अचानक तबियत खराब होने पर उन्हें 14 मार्च को एयरलिफ्ट कर इलाज के लिए रांची से चेन्नई ले जाया गया था। पहले कोरोना काल में वह कोरोना की चपेट में आ गए थे। तब उनका लंग्स ट्रांसप्लांट किया गया था।

Jharkhansd Education Minister Pass away