Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Wednesday, May 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू ACB की कार्रवाई, नौ हजार घूस लेते शिक्षा विभाग का BPO गिरफ्तार

Palamu BPO Arrested News

पलामू : एंटी करप्शन ब्यूरो की पलामू इकाई ने नावा बाजार प्रखंड के शिक्षा विभाग के प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी बच्चन कुमार पंकज को नौ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। उत्क्रमित मध्य विद्यालय चेचन्हा भुइयां टोली के सहायक अध्यापक-पारा शिक्षक का मानदेय रोकने के बाद उसे रिलीज करने के एवज में 10 हजार की घूस मांगी थी। आवेदक घूस नहीं देना चाहते थे और कई दिनों तक आग्रह करने के बाद भी जब प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी रिश्वत लेने पर अड़े रहे तो इस संबंध में पलामू एसीबी कार्यालय में शिकायत की गयी।

शिकायत के आलोक में पलामू एसीबी के अधिकारियों ने एक टीम बनायी और कार्रवाई करते हुए प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को नौ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। गिरफ्तार करने के बाद प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को मेदिनीनगर लाया गया और फिर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एंटी करप्शन ब्यूरो पलामू की ओर से जानकारी दी गयी है कि नावा बाजार के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी हरिप्रसाद ठाकुर एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी बच्चन कुमार पंकज ने 22 अप्रैल 2024 को उत्क्रमित मध्य विद्यालय चेचन्हा भुइयां टोली का निरीक्षण किया था। उस दिन विद्यालय में 20 बच्चे उपस्थित थे। दोनों पदाधिकारियों ने स्कूल के सहायक अध्यापक से स्पष्टीकरण पूछा था। साथ ही सहायक अध्यापक के मानदेय भुगतान पर रोक लगा दी थी। सहायक अध्यापक ने दो बार स्पष्टीकरण का जवाब दिया था, लेकिन प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने बंद किये गये मानदेय पर किसी प्रकार का विचार नहीं किया।

सहायक अध्यापक द्वारा मानदेय भुगतान का आग्रह करने पर प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने 10000 घूस की मांग की। सहायक अध्यापक घूस नहीं देना चाहते थे और उन्होंने इसकी शिकायत एसीबी के मेदिनीनगर कार्यालय में की थी। सत्यापन के बाद मामला सही पाये जाने पर इस संबंध में कार्रवाई की गयी।

Palamu BPO Arrested News