Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Wednesday, May 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड: ग्रामीण विकास विभाग के मुख्य अभियंता के ठिकानों से ED की दो दिन की छापेमारी में डेढ़ करोड़ के जेवरात व लाखों रुपये नकद बरामद

Jharkhand ED raids

रांची : ग्रामीण विकास विभाग के मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम के ठिकानों पर बुधवार को लगातार दूसरे दिन प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी जारी रही। छापेमारी मंगलवार सुबह पांच बजे शुरू हुई और बुधवार को भी जारी रही। वीरेंद्र राम और आलोक रंजन फिलहाल ईडी की हिरासत में हैं। पूछताछ में वीरेंद्र राम ने ईडी के सामने कई बड़ी हस्तियों से अपने संबंधों का भी खुलासा किया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वीरेंद्र राम के पास से एक पेन ड्राइव मिली है, जिसमें काफी डाटा रखा गया है। पेन ड्राइव में ठेकेदारों से पैसे लेकर कई नेताओं को पैसे भेजने के सबूत हैं। माना जा रहा है कि वीरेंद्र राम के करीबी संबंधों की वजह से अब कई राजनेता ईडी के रडार पर आ चुके हैं।

ईडी ने मंगलवार को ग्रामीण विकास विभाग के मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम के कुल 24 ठिकानों पर छापेमारी की. इस दौरान वीरेंद्र राम के जरिये बनायी गयी कंपनियों के अलावा 100 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता चला। छापेमारी के दौरान 1.50 करोड़ रुपये की ज्वैलरी और करीब 30 लाख रुपये कैश बरामद किया गया है। इंजीनियर वीरेन्द्र राम के यहां ऑडी, BMW सहित एक दर्जन लग्जरी गाड़ियां, दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी, रांची के अशोक नगर, मुंबई के पॉश इलाके सहित आधा दर्जन बंगलों का पता चला है।

गौरतलब है कि वीरेंद्र राम के अधीन काम करने वाले एक इंजीनियर से 2019 में एक ऑपरेशन के दौरान दो करोड़ 90 लाख रुपये बरामद किये गये थे। बताया जा रहा है कि उस वक्त जब्त की गयी रकम भी वीरेंद्र राम की ही थी। ईडी ने उसी समय वीरेंद्र राम के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

Jharkhand ED raids