Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मनी लॉन्ड्रिंग: ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया

रांची : ईडी अवैध खनन के जरिये 1,000 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है। इस मामले में ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को समन भेजा गया है। प्रमोद मिश्रा को 6 मार्च को और हामिद अख्तर को 7 मार्च को ईडी कार्यालय में पेश होने को कहा गया है। साहिबगंज के बड़हरवा टोल प्लाजा विवाद मामले की जांच कर रहे ईडी ने तत्कालीन बड़हरवा डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को तीसरी बार समन भेजा है। पूर्व में भेजे गये दो समन के बाद भी डीएसपी ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे।

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने ईडी की शक्तियों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, एक दिन पहले ही उनकी याचिका खारिज हो चुकी है। उन पर आरोप है कि बड़हरवा के उक्त केस में उन्होंने 24 घंटे के भीतर आरोपित मंत्री आलमगीर आलम और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को क्लीन चिट दे दी थी।

इसमें मंत्री आलमगीर आलम, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा सहित कई अन्य आरोपियों को आरोपी बनाया गया था। ईडी ने इससे पहले डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को 12 दिसंबर 2022 के लिए समन भेजा था। पहले समन पर पेश नहीं होने पर ईडी ने उन्हें फिर से 15 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन पीके मिश्रा ईडी के सामने पेश नहीं हुए।

झारखंड मनी लॉन्ड्रिंग केस