Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Sunday, June 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मनी लॉन्ड्रिंग: ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया

रांची : ईडी अवैध खनन के जरिये 1,000 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है। इस मामले में ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को समन भेजा गया है। प्रमोद मिश्रा को 6 मार्च को और हामिद अख्तर को 7 मार्च को ईडी कार्यालय में पेश होने को कहा गया है। साहिबगंज के बड़हरवा टोल प्लाजा विवाद मामले की जांच कर रहे ईडी ने तत्कालीन बड़हरवा डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को तीसरी बार समन भेजा है। पूर्व में भेजे गये दो समन के बाद भी डीएसपी ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे।

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने ईडी की शक्तियों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, एक दिन पहले ही उनकी याचिका खारिज हो चुकी है। उन पर आरोप है कि बड़हरवा के उक्त केस में उन्होंने 24 घंटे के भीतर आरोपित मंत्री आलमगीर आलम और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को क्लीन चिट दे दी थी।

इसमें मंत्री आलमगीर आलम, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा सहित कई अन्य आरोपियों को आरोपी बनाया गया था। ईडी ने इससे पहले डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को 12 दिसंबर 2022 के लिए समन भेजा था। पहले समन पर पेश नहीं होने पर ईडी ने उन्हें फिर से 15 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन पीके मिश्रा ईडी के सामने पेश नहीं हुए।

झारखंड मनी लॉन्ड्रिंग केस