Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

झारखण्ड के इन हिस्सों में देर रात महसूस हुए भूकंप के झटके

jharkhand earthquake news

धनबाद। धनबाद में देर रात भूकंप के झटके महसूस किए गए। रात में करीब 1:32 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। लोगों के अनुसार यह महज पांच-छह सेकेंड का ही था। अचानक झटके से रात में लोग नींद से जाग गए। कई लोग घर से बाहर भी निकल आए। वे काफी देर बाहर में इसकी चर्चा करते रहे। लोगों ने अपने दोस्तों-रिश्तेदारों को फोन कर इसकी जानकारी दी। कई लोगों ने देर रात को ही इंटरनेट मीडिया पर इसका अनुभव शेयर किया। हालांकि अधिकारिक रूप से भूकंप की पुष्टी नहीं हो पाई है।

क्यों आता है भूकंप

पृथ्वी कई लेयर में बंटी होती है और जमीन के नीचे कई तरह की प्लेट होती है। ये प्लेट्स आपस में फंसी रहती हैं, लेकिन कभी-कभी ये प्लेट्स खिसक जाती है, जिस वजह से भूकंप आता है। कई बार इससे ज्यादा कंपन हो जाता है और इसकी तीव्रता बढ़ जाती है। भारत में धरती के भीतर की परतों में होने वाली भोगौलिक हलचल के आधार पर कुछ जोन तय किए गए हैं और कुछ जगह यह ज्यादा होती है तो कुछ जगह कम। इन संभावनाओं के आधार पर भारत को 5 जोन बांटा गया है, जो बताता है कि भारत में कहां सबसे ज्यादा भूकंप आने का खतरा रहता है। इसमें जोन-5 में सबसे ज्यादा भूकंप आने की संभावना रहती है और 4 में उससे कम, 3 उससे कम होती है।

प्राकृतिक आपदा के बारे में कुछ पता नहीं होता

भूकंप या कोई भी प्राकृतिक आपदा के बारे में पहले से कुछ पता नहीं होता। ऐसी प्राकृतिक आपदा के वक्त एकदम समझ नहीं आता कि क्या किया जाए। हम आपको बता रहे हैं वे आम तरीके जिससे आप किसी भूकंप के वक्त खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

भूकंप आने पर क्या करें?

  • अगर भूकंप के वक्त आप घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं।
  • घर में किसी मजबूत टेबल या फर्नीचर के नीचे बैठकर हाथ से सिर और चेहरे को ढकें।
  • भूकंप के झटके आने तक घर के अंदर ही रहें और झटके रुकने के बाद ही बाहर निकलें।
  • अगर रात में भूकंप आया है और आप बिस्तर पर लेटे हैं हैं तो लेटे रहें, तकिए से सिर ढक लें।
  • घर के सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।
  • अगर आप भूकंप के दौरान मलबे के नीचे दब जाएं तो किसी रुमाल या कपड़े से मुंह को ढंके।
  • मलबे के नीचे खुद की मौजूदगी को जताने के लिए पाइप या दीवार को बजाते रहें, ताकि बचाव दल आपको तलाश सके।
  • अगर आपके पास कुछ उपाय ना हो तो चिल्लाते रहें और हिम्मत ना हारें

  • भूकंप आने पर क्या ना करें
  • भूकंप के वक्त अगर आप घर से बाहर हैं तो ऊंची इमारतों और बिजली के खंभों से दूर रहें।
  • अगर आप गाड़ी चला रहे हो तो उसे रोक लें और गाड़ी से बाहर ना निकलें।
  • किसी पुल या फ्लाइओवर पर गाड़ी खड़ी ना करें।
  • भूकंप के समय अगर आप घर में हैं तो बाहर ना निकलें।
  • अगर आप भूकंप के वक्त मलबे में दब जाएं तो माचिस बिल्कुल ना जलाएं।
  • इससे गैस लीक होने की वजह से आग लगने का खतरा हो सकता है।
  • भूकंप आने पर घर में हैं तो चलें नहीं। सही जगह ढूंढें और बैठ जाएं। घर के किसी कोने में चले जाएं।
  • कांच, खिड़कियों, दरवाज़ों और दीवारों से दूर रहें।
  • भूकंप के वक्त लिफ्ट के इस्तेमाल से बचें। कमज़ोर सीढ़ियों का इस्तेमाल न करें। लिफ्ट और सीढ़ियां दोनों ही टूट सकती हैं।
  • भूकंप में अगर मलबे में दब जाएं तो ज़्यादा हिले नहीं और धूल ना उड़ाएं।

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar

jharkhand earthquake news


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *