Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

रांची: राजधानी में नशे की हालत में वाहन चलाने वालों की अब खैर नहीं, ब्रेथ एनालाइजर से हो रही जांच

शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर जुर्माना, वाहन होंगे सीज

रांची: रांची में अब शराब पीकर वाहन चलाने वाले सुरक्षित नहीं हैं। क्रिसमस और नये साल के मौके पर पुलिस शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चला रही है। इसी क्रम में रविवार देर रात कुल 143 वाहनों की चेकिंग की गयी। ब्रेथ एनालाइजर से जांच के बाद उन पर जुर्माना लगाया गया। कुछ वाहन चालक पुलिस से उलझ गये। इस पर मेडिकल जांच के बाद उनके वाहनों को सीज कर दिया गया। वाहन मालिकों को अब अपने वाहनों को कोर्ट से छुड़वाना होगा।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एसएसपी किशोर कौशल ने बताया कि रांची के चारों ट्रैफिक थानों की ओर से ड्रंक एंड ड्राइव अभियान चलाया गया। इनमें से 29 लोगों की लालपुर में जांच की गयी। इसमें चार पॉजिटिव मिले। जबकि चुटिया क्षेत्र में 45 लोगों की जांच में एक और गोंदा क्षेत्र में 45 लोगों की जांच में एक पॉजिटिव तथा जगरनाथपुर क्षेत्र में 24 लोगों की जांच में एक भी पॉजिटिव नहीं मिला। इस दौरान छह चालक पॉजिटिव पाये गये।

एसएसपी ने बताया कि नया साल आने वाला है। शराब के नशे में वाहन चालक अक्सर वाहन से नियंत्रण खो देते हैं, जिससे दुर्घटनाएं होती हैं। कई बार पैदल राहगीर भी सड़क पर गिर जाते हैं। इसी को देखते हुए यह सख्ती बरती गयी है। यातायात में तैनात पुलिस पदाधिकारियों को सख्ती से अगले 50 दिन तक लगातार अभियान चलाने का आदेश दिया गया है ताकि लोग शराब पीकर वाहन न चलायें।