Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडदक्षिणी छोटानागपुर

गुमला: नशे में धुत अपने ही दोस्त की फावड़े से काटकर कर दी हत्या

गुमला : मामूली विवाद में शुक्रवार को एक शराबी ने अपने ही शराबी दोस्त की कुदाल से काटकर हत्या कर दी। हत्या कर भाग रहे बहुरा उरांव को लकेया गांव के पास ग्रामीणों ने पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। मृतक की पहचान लकेया गांव निवासी सुभाष उरांव उर्फ चंदन (58) के रूप में की गयी है।

जानकारी के अनुसार सुभाष उर्फ चंदन उरांव और बहुरा उरांव शुक्रवार को सुबह से ही घूम घूम कर शराब पी रहे थे । दोनो घूमते घूमते कुम्हार मोड़ आए थे। लौटने के क्रम में दोनो शराब के नशे में आश्रम विद्यालय के बगल में स्थित बुधु बगीचा में बैठ गये। इसी बीच दोनो में किसी बात को लेकर झड़प होने लगी।

आक्रोशित होकर अचानक बहुरा उरांव ने बगल के टांड़ में धान विचड़ा लगा रहे जतरु उरांव का कुदाल को उठाकर लाया और सुभाष के सिर में कई प्रहार कर दिया। जिससे घटना स्थल पर ही सुभाष की मौत हो गयी। पास ही जतरु उरांव के टांड़ में धान विचड़ा लगा रही महिलाओं के शोर मचाने के बावजूद बहुरा ने मृतक के शव को घसीटते हुए कुछ दूर स्थित झाड़ी पर फेंक कर फरार हो गया। महिलाओं के हल्ला सुन कर भाग रहे बहुरा को ग्रामीणों ने खदेड़कर पकड़ा और पुलिस को सौप दिया।

ग्रामीणों के अनुसार मृतक सपरिवार बंगाल के आसाम में रहता था। लकेया में उसकी पुस्तैनी जमीन है। एनएच चौड़ीकरण में हो रही जमीन अधिग्रहित का वह मुवावजा का दूसरा क़िस्त लेने के लिए कुछ दिन पूर्व ही लकेया गांव आया था।