Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में बोलेरो ने बाइक में पीछे से मारी टक्कर, दो IRB जवान समेत चार घायल, दो रिम्स रेफर, सड़क जाम||पलामू में ट्रक ने झामुमो नेता के रिश्तेदार को रौंदा||झारखंड में बड़ा सड़क हादसा, तीन की मौत, सात घायल||झारखंड में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 65.40 फीसदी वोटिंग, गिरिडीह और धनबाद में महिलाएं तो रांची और जमशेदपुर में पुरुषों ने मारी बाजी||बड़ी घटना को अंजाम देने आये अमन साहू गिरोह के चार शूटर चढ़े पुलिस के हत्थे||प्रेमी ने शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण, धोखा बर्दाश्त नहीं कर पायी प्रेमिका, की जान देने की कोशिश, मामला दर्ज||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला
Monday, May 27, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: फ़ूड पॉइजनिंग के शिकार हुए दर्जनों ग्रामीण, सरहुल के जुलूस में खाया था चना और गुड़

लातेहार : जिले के चंदवा प्रखंड के सिकनी, आन और कीता गांव के 40 से अधिक लोग फ़ूड पॉइजनिंग का शिकार हो गये। बताया जाता है कि सरहुल कार्यक्रम के दौरान गांव में चना और गुड़ खाने से सभी बीमार हो गये। हालांकि मेडिकल टीम ने समय रहते गांव पहुंचकर बीमार का इलाज किया, जिससे स्थिति बिगड़ने से बच गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरहुल का कार्यक्रम गांव में आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में चना और गुड़ का वितरण भी किया गया। चना और गुड़ खाने के बाद रात में अचानक ग्रामीणों की तबीयत बिगड़ने लगी। ग्रामीणों को उल्टी व दस्त होने लगे। अचानक इतने लोगों की तबीयत बिगड़ने से गांव में कोहराम मच गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल स्वास्थ्य विभाग को दी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सूचना मिलते ही लातेहार सिविल सर्जन डॉ. दिनेश कुमार के निर्देश पर मेडिकल टीम गांव पहुंची और कैंप लगाकर बीमार ग्रामीणों का इलाज शुरू किया। समय पर इलाज मिलने से गांव में ही इलाज के बाद अधिकांश ग्रामीणों की स्थिति सामान्य हो गयी। बाद में जिनकी हालत ज्यादा गंभीर लग रही थी, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

सिविल सर्जन ने बताया कि चना और गुड़ खाने के बाद लोग फूड पॉइजनिंग के शिकार हो गये थे। उन्होंने बताया कि सभी बीमार लोगों की स्थिति नियंत्रण में है। मेडिकल टीम को अगले 3 दिनों तक सभी बीमार व्यक्तियों पर पैनी नजर रखने के स्पष्ट आदेश दिये गये हैं।

लातेहार फ़ूड पॉइजनिंग न्यूज