Breaking :
||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव

पलामू: सतबरवा में मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा, मुख्य सरगना समेत सात गिरफ्तार

पलामू : पुलिस ने मिनी गन फैक्ट्री का उद्भेदन किया है। यह फैक्टरी सतबरवा थाना क्षेत्र के रबदा गांव में संचालित की जा रही थी। पुलिस ने इस कार्य में लगे मुख्य सरगना समेत सभी सात अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस ने बताया कि सोशल मीडिया पर दो दिन पूर्व लल्लन यादव नाम के युवक का पिस्टल लहराते वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद कार्रवाई करते हुए पुलिस ने लल्लन यादव सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार किया। पकड़े गये आरोपियों की निशानदेही पर मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा हुआ।

गिरफ्तार आरोपी

गिरफ्तार आरोपियों में मुख्य सरगना बैजनाथ मिस्त्री के साथ सतबरवा निवासी विकास कुमार, अरविंद कुमार, अभिषेक चौधरी, लल्लन यादव, विजय सिंह समेत लेस्लीगंज निवासी कमलेश सिंह को भी गिरफ्तार किया गया है।

मुख्य सरगना बैजनाथ मिस्त्री जम्मू-कश्मीर से सीखा हथियार बनाना

हथियार बनाने का मुख्य सरगना बैजनाथ मिस्त्री पलामू के पाटन थाना क्षेत्र के सेमरी गांव का रहने वाला है। 2019 से पहले, वह जम्मू-कश्मीर में एक हथियार बनाने की फैक्ट्री में काम करता था। एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि वह वहां से आने के बाद कुछ दिन और काम करता था। इसके बाद वे कुछ दिनों के लिए हैदराबाद में काम करने चला गया। हैदराबाद से लौटने के बाद हथियार बनाने का काम शुरू किया।

छापेमारी में बरामद हथियार

छापेमारी में पुलिस ने 315 की एक पिस्टल, दो देसी पिस्टल, दो देसी भरठुआ बंदूकें, तीन अर्धनिर्मित पिस्टल, हथियार बनाने का उपकरण, इलेक्ट्रिक ग्राइंडर मशीन और चार मोबाइल बरामद किए हैं।

रबादा के घने जंगल के बीच में था मिनी गन फैक्ट्री

गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि बैजनाथ मिस्त्री हथियार बनाने का काम करता है। विजय सिंह हथियारों की आपूर्ति का काम करता है। विजय सिंह किराये पर बैजनाथ मिस्त्री के घर पर रहता है। पुलिस को बताया गया कि रबादा के घने जंगल के बीच में हथियार बनाने का काम होता है। विजय सिंह बैजनाथ मिस्त्री से चार हजार में एक पिस्टल खरीदता है और सतबरवा इलाके में छह हजार रुपये में बेच देता है।

छापामारी दल

छापामारी में सतबरवा थाना प्रभारी ऋषिकेश कुमार राय, सहायक अवर निरीक्षक कौशल किशोर दुबे, रविंद्र कुमार, बुद्धू उंराव, हवलदार महादेव टूटी, रामेश्वर सिंह सरदार समेत सशस्त्र बल शामिल थे।