Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचतराझारखंड

DGP ने नक्सलियों को दी कड़ी चेतावनी, कहा- सरेंडर करें या ढेर होने के लिए रहें तैयार

Chatra Encounter News

चतरा : डीजीपी अजय कुमार सिंह ने कहा कि नक्सलियों का समय अब पूरी तरह खत्म हो गया है। वे या तो हथियार डाल दें और सरकार की सरेंडर पॉलिसी का फायदा उठाकर मुख्यधारा में शामिल हो जायें या फिर हमारे सुरक्षा बल आमने-सामने की लड़ाई में उन्हें मार गिरायेंगे।

सुरक्षाबलों ने तोड़ी नक्सलियों की कमर

अजय कुमार सिंह ने कहा कि चतरा-पलामू सीमा क्षेत्र में मिली बड़ी सफलता ने नक्सलियों की कमर तोड़ कर रख दी है। निश्चित रूप से हमारे जवान प्रोत्साहन के पात्र हैं और उन्हें आगे की रणनीति के लिए कई निर्देश भी दिए गये हैं। उन्होंने कहा कि गौतम पासवान की टीम माओवादियों के मजबूत हाथ के रूप में जानी जाती थी जो कई वर्षों से लगातार पुलिस बल और आम लोगों को नुकसान पहुंचा रही थी। झारखंड पुलिस की यह बड़ी कामयाबी है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उग्रवाद के खात्मे के लिए चौतरफा कार्रवाई जारी

डीजीपी ने कहा कि झारखंड पुलिस की उग्रवाद के खात्मे के लिए चौतरफा कार्रवाई जारी है। झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ कुशल नेतृत्व, रणनीति और दृढ़ संकल्प के साथ नक्सलियों का सफाया करने के लिए कृतसंकल्प हैं। डीजीपी ने दावा किया कि पुलिस फायरिंग में अन्य माओवादी भी घायल हुए हैं, जिसकी जांच की जा रही है। जल्द ही बाकी नक्सलियों को या तो मार गिराया जायेंगे या सलाखों के पीछे भेजा जायेगा।

नक्सलियों के गढ़ लावालौंग पहुंचे डीजीपी

डीजीपी अजय कुमार सिंह मंगलवार को विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नक्सलियों के गढ़ चतरा के लावालौंग पहुंचे, जहां उन्हें सबसे पहले गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस मौके पर हजारीबाग जोन के डीआईजी नरेंद्र कुमार सिंह, सीआरपीएफ के डीआईजी डीके चौधरी, सीआरपीएफ 190 बटालियन के कमांडेंट मनोज कुमार सहित जिला बल व अर्धसैनिक बल के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

मुठभेड़ में शामिल जवानों का बढ़ाया हौसला

इसके बाद डीजीपी का काफिला लावलोंग प्रखंड स्थित सीआरपीएफ के 190 मुख्यालय कैंप पहुंचा। यहां डीजीपी ने मुठभेड़ में शामिल जवानों का हौसला बढ़ाया और उनमें इनामी राशि भी बांटी। सीआरपीएफ के एडीजी वितुल कुमार ने कहा कि पिछले दो साल में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस को अच्छी सफलता मिली है। चतरा पुलिस, सीआरपीएफ 190, कोबरा 203 और सीआरपीएफ 134 बटालियन के जवानों ने पांच शीर्ष नक्सलियों को मार गिराया है। इस संयुक्त अभियान में नक्सलियों के एक बड़े कैंप को भी ध्वस्त किया गया है।

सोमवार को हुई मुठभेड़ में मारे गये थे पांच नक्सली

गौरतलब है कि सोमवार को चतरा जिले के अति नक्सल प्रभावित लावालौंग थाना क्षेत्र के नौडीहा जंगल में माओवादियों के भ्रमण की सूचना पर गये सुरक्षाबलों पर अंधाधुंध फायरिंग के बाद दोनों के बीच हुई मुठभेड़ में मारे गये पांच नक्सलियों में से चार नक्सलियों के विरुद्ध सरकार ने इनाम घोषित कर रखा था।

इनकी भी थी उपस्थिति

इस मौके पर एडीजी अभियान संजय आनंद राव लाटकर, आईजी अभियान एवी होमकर, आईजी सीआरपीएफ विधि कुमार बिरदी, डीआइजी हजारीबाग नरेंद्र सिंह, सीआरपीएफ के डीआईजी डीके चौधरी, एसपी राकेश रंजन, 190 बटालियन के कमांडेंट मनोज कुमार मौजूद थे।

Chatra encounter news