Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

बरवाडीह : रोक के बावजूद शेड निर्माण कार्य शुरू करने से ग्रामीणों में आक्रोश, कार्रवाई की मांग

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड की छेछा पंचायत अंतर्गत जिला परिषद की राशि से कब्रिस्तान शेड निर्माण का कार्य विवादों में चल रहा है। भूमि विवाद को लेकर ग्रामीणों की शिकायत के बाद अंचलाधिकारी राकेश सहाय द्वारा 1 माह पूर्व शेड का निर्माण कार्य बंद करने का आदेश दिया गया था। साथ ही जांच के भी आदेश दिए गए थे।

रोक के बावजूद एक सप्ताह पूर्व स्थानीय मुखिया और पंचायत समिति सदस्य के द्वारा निजी स्तर पर बैठक करते हुए निर्माण कार्य को चालू करने का आदेश दे दिया गया। जिसके बाद संवेदक के द्वारा पूर्व के निर्माण स्थल से कुछ दूर हटकर निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया।

निर्माण कार्य शुरू होने के बाद एक बार फिर ग्रामीणों में निर्माण कार्य के प्रति नाराजगी बढ़ने लगी और सोमवार को ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ ही जिला उपायुक्त को पत्र लिखा। जिसकी प्रति स्थानीय अनुमंडल पुलिस अधिकारी और अंचल अधिकारी को देते हुए निर्माण कार्य को पूरी तरह से रोककर भूमि का सत्यापन कराने की मांग की गई है।

ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि पंचायत के मुखिया और पंचायत समिति के द्वारा बिना किसी को जानकारी दिए कुछ लोगों के साथ मिलकर निर्माण कार्य शुरू कराने की सहमति दी गई है, जो ग्रामीणों के हित में गलत है। जब शेड का निर्माण कार्य कब्रिस्तान के लिए है तो उसे कब्रिस्तान के अंदर बनाया जाना चाहिए। लेकिन संवेदक के द्वारा कब्रिस्तान के अंदर ना बनाकर उसे देव स्थल की भूमि में बनाने का काम किया जा रहा है।

शिकायत करने वालों में आनंद कुमार सिंह, जयपाल प्रसाद, उमेश सिंह, अंकल सिंह, अनिल सिंह, सत्येंद्र कुमार, रामनरेश सिंह, अशोक सिंह, भोला सिंह, शिवम राम, सुरेश सिंह समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *