Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

ग्रामीण विकास मंत्री से सतबरवा बीडीओ को निलंबित करने की मांग

पलामू : कांग्रेस कार्यकर्ता बिहारी यादव की पिटायी कर दोनों हाथ तोड़ने के आरोपी सतबरवा बीडीओ राजकिशोर प्रसाद को निलंबित करने की मांग तेज हो गयी है। थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद पीड़ित कांग्रेस कार्यकर्ता शनिवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष जैश रंजन पाठक उर्फ बिट्टू के नेतृत्व में रांची पहुंचे और मंत्री आलमगीर आलम से उनके आवास पर मुलाकात कर उन्हें निलंबित करने का आग्रह किया। इस पर मंत्री ने दो दिन में कार्रवाई का आश्वासन दिया।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने ग्रामीण विकास मंत्री को बताया कि सतबरवा बीडीओ ने 13 अगस्त की सुबह करीब 8.30 बजे ट्रैक्टर से बालू उठाने का झूठा आरोप लगाते हुए बिहारी यादव से 50 हजार रुपये की मांग की। रुपये नहीं देने पर उन्होंने खुद ही डंडे से बिहारी यादव की अंधाधुंध पिटायी कर दी, जिसमें बिहारी यादव के दोनों हाथ टूट गये। अगर बिहारी यादव ने कुछ गलत किया था तो सरकारी गाड़ी से लाठियां निकालकर पिटायी करने के बजाय इसकी सूचना बीडीओ को थाने में देनी चाहिए थी। यह कहां तक उचित है? उन्हें आम लोगों को लाठियों से पीटने का आदेश किसने दिया।

उन्होंने कहा कि बिहारी यादव ने सतबरवा थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जिला प्रशासन ने मामले की जांच के लिए उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है। अगर उचित कार्रवाई नहीं की गयी तो इससे कमेटी की निष्पक्ष जांच पर सवालिया निशान लग जायेगा। साथ ही इस घटना में आरोपी बीडीओ पर कार्रवाई नहीं होने से सरकार की विश्वसनीयता कम हुई है।

इस मौके पर सतबरवा प्रखंड अध्यक्ष प्रमोद यादव, उप प्रमुख कामाख्या नारायण यादव, उमेश यादव, नीरज कुमार पासवान, प्रेमचंद्र उरांव, जुगल राम, सच्चीदा बैठा, पिंटू आलम, पीड़ित बिहारी यादव मौजूद थे।