Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबर

पलामू: जंगली सुअर के शिकार के लिए लगाए गए जाल में फंसकर हिरण की मौत

palamu update :पलामू : जिले के नीलांबर पीतांबरपुर-लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के डबरा आहर से घायल अवस्था में मिले एक हिरण की इलाज के लिए ले जाते समय मौत हो गयी।

बताया जाता है कि काफी देर तक हिरण के सींग में रस्सी फंसी रहने और जबड़े में डंडों से वार होने से हिरण की हालत गंभीर हो गई थी। उसे इलाज के लिए लेस्लीगंज के पशु चिकित्सक के पास ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

मामले में कार्रवाई करते हुए वन विभाग ने हिरण को फंसाने वाले शिकारी ग्रामीण लालदेव यादव को गिरफ्तार कर शुक्रवार शाम को जेल भेज दिया।

कुंदरी के रेंजर संदीप कुमार चौधरी ने बताया कि हिरण को आहर से छुड़ाकर इलाज के लिए लेस्लीगंज पशु चिकित्सक के पास ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

आगे बताया कि मामले में कार्रवाई करते हुए डबरा निवासी लालदेव यादव को हिरण का शिकार करने के आरोप में गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। आज हिरण के शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। उसके बाद उसे नियमानुसार दफनाया जाएगा।

वन विभाग की जांच में यह बात सामने आई है कि डबरा निवासी लालदेव यादव नाम के व्यक्ति ने जंगली सूअर का शिकार करने के लिए गांव के आहर में फंदा लगाया था। इसमें सुअर की जगह जंगल से भटकता हुआ हिरण फंस गया।

आरोपी ने अपने स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि सुअर का शिकार करने के लिए उसने आहर के किनारे तार का जाल लगाया था, लेकिन हिरण फंस गया। हिरण के सींग में रस्सी और तार फंसने के बाद उसने उसके जबड़े पर डंडों से प्रहार किया। जब वह काबू में आया तो उसे आहर के पानी में फेंक दिया गया।

बता दें कि डबरा गांव में ध्रुव सिंह नाम के शख्स ने दो साथियों के साथ मिलकर पानी से भरे आहर में तड़पते हिरण को देखकर डबरा पिकेट प्रभारी लेस्लीगंज थाना और वन विभाग कुंदरी को सूचना दी थी। साथ ही मृग को बंधी रस्सी से छुड़ाकर पानी से बाहर निकाला था।

palamu update

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *