Breaking :
||JOB: झारखंड में सीडीपीओ के 64 पदों पर होगी भर्ती, जानिये डिटेल||लातेहार: पेड़ से गिरकर घायल युवक की रिम्स ले जाते समय रास्ते में मौत||बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, तस्वीरें||Good News: 12 जून से शुरू होगा बरकाकाना-वाराणसी BDM सवारी गाड़ी का परिचालन||लातेहार: जिले में 10 जून से 15 अक्टूबर तक बालू उठाव पर पूर्ण प्रतिबंध||आदिम जनजातियों के विकास बिना राज्य का विकास संभव नहीं : राज्यपाल||10 दिनों के अंदर झारखंड में प्रवेश करेगा मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी राहत||स्थानीय नीति के विरोध में 10 और 11 जून को झारखंड बंद का आह्वान||गुमला: रांची सेंट जेवियर्स स्कूल के प्रिंसिपल की अनियंत्रित कार ने कई लोगों को रौंदा, तीन महिला समेत चार की मौत, तस्वीरें||पलामू: शीर्ष माओवादी अभिजीत यादव और प्रसाद यादव के ठिकानों पर NIA की छापेमारी

लातेहार: संदिग्ध हालत में मिला युवक का शव, 10 मई को होनी थी शादी

लातेहार : जिले के बरियातू थाना क्षेत्र के पिपराडीह गांव में संचालित बलराम स्टोन माइंस के करीब 150 फुट गड्ढे से शनिवार की सुबह पुलिस ने एक युवक का शव बरामद किया। मृतक की पहचान रेंची गांव निवासी बालदेव पाहन के 25 वर्षीय पुत्र अजय गंझू के रूप में हुई है।

मृतक के भाई सुरेश गंझू ने हत्या की आशंका जतायी है। उन्होंने बताया कि 20 दिन पहले मेरा भाई अजय हैदराबाद से काम करके घर लौटा था। शादी 10 मई को होनी थी। आठ को मड़वा, नौ को घृतढारी और दस को बारात चतरा जिले के बरैनी स्थित कोरचा गांव जाना था। शादी का माहौल होने के कारण शुक्रवार की रात सभी खाना खाकर सोने चले गये। उसके बाद से हम अजय को काफी ढूंढ़ते रहे। सुबह बरियातू पुलिस से खबर मिली कि बलराम स्टोन माइंस में करीब 130 फीट गहरे गड्ढे से अजय का शव बरामद किया गया है। इसके बाद थाने पहुंचे और भाई की शिनाख्त की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मृतक के भाई सुरेश गंझू ने बताया कि शव 130 फीट गड्ढे में मिला है। लेकिन चोट का कोई गंभीर निशान नहीं था। बल्कि उसके पैर की दोनों जांघों के पास जलने का निशान है। बताया गया है कि बलराम की हत्या माइन्स गार्ड ने की थी। और हमें बिना बताये शव को निजी वाहन से थाने भिजवा दिया। मेरा भाई इतनी गहराई से गिरा, शरीर के कई टुकड़े हो जाते, लाश को खदानों के गड्ढे में घसीट कर लाया गया। जिससे शरीर धूल के मैल से ढका हुआ था। हालांकि लगाये जा रहे आरोप पूरी ईमानदारी से निष्पक्ष जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएंगे।

उधर, पुलिस आशंका जता रही है कि अजय की मौत 130 फुट खदान के गड्ढे में गिरने से हुई है। भाई सुरेश गंझू ने कहा कि पुलिस को खदान में शव मिला है और खदान से मेरे घर की दूरी करीब एक किलोमीटर है। ऐसे में मुझे अपने भाई की लाश देखने के लिए खदान में ही क्यों नहीं बुलाया गया। माइंस संचालक मेरे भाई के शव को अपनी कार में बरियातू थाने क्यों ले गया?

आगे बताया कि माईनस में जब सुरक्षा प्रहरी मौजूद है तो कोई भी व्यक्ति माइंस में जाकर गिर जाता है और सुरक्षा प्रहरी को पता भी नहीं चलता है. मामला लीपापोती करने का प्रयास किया जा रहा है. अजय गंझु की मौत की जांच परिजनों ने बड़े पदाधिकारीयों से कराने की मांग की है। बालदेव पाहन के तीन पुत्र और एक पुत्री जिसमें पुत्री व एक पुत्र विक्लांग है। अचानक हुए घटना से परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

आगे बताया गया कि जब सुरक्षा गार्ड खदान में मौजूद होता है तो कोई व्यक्ति खदान में गिर जाता है और सुरक्षा गार्ड को पता भी नहीं चलता। मामले पर पर्दा डालने का प्रयास किया जा रहा है। परिजनों ने वरिष्ठ अधिकारियों से अजय गंझू की मौत की जांच की मांग की है।

इधर, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए लातेहार भेज दिया है। इस संबंध में थाना प्रभारी मुकेश कुमार चौधरी ने बताया कि प्रथम दृष्टया मौत करीब 130 फीट गड्ढे में गिरने से हुई प्रतीत हो रही है। फिर भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।