Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड के सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से सात तक की छमाही परीक्षा की तिथि बदली, जानिये अब कब से होगी परीक्षा

रांची : झारखंड के सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से सात तक की छमाही परीक्षा की तिथि में बदलाव किया गया है। पहले यह परीक्षा 16 जनवरी को होनी थी लेकिन अब यह परीक्षा 18 जनवरी से शुरू होगी। टूसू पर्व के चलते परीक्षा की तिथि में बदलाव किया गया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बहरागोड़ा विधायक समीर कुमार मोहंती ने शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो से तिथि में बदलाव की मांग की थी। विधायक ने पत्र में लिखा था कि टूसू पर्व पूरे झारखंड के प्रमुख त्योहारों में से एक है। झारखंड के लोगों का इससे भावनात्मक लगाव है। झारखंड में जिस उत्साह से यह पर्व हर जाति-वर्ग-पंथ द्वारा मनाया जाता है, शायद ही कोई और पर्व मनाया जाता है।

विधायक ने लिखा था कि मकर संक्रांति पर्व 14 या 15 जनवरी को है। हालांकि, ग्रामीण क्षेत्रों में यह त्योहार एक सप्ताह तक मनाया जाता है। झारखंड की भाषा में कहें तो 16 जनवरी को ऐखन यात्रा कहा जाता है, जो इस पर्व का एक महत्वपूर्ण दिन है। ग्रामीण क्षेत्रों में इसे बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। इसको लेकर विधायक ने परीक्षा की तिथि बदलने की मांग की थी। शिक्षक संगठनों ने भी स्थिति को देखते हुए तिथि बढ़ाने की मांग की थी। जिसके बाद यह बदलाव किया गया।