Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में साइबर फ्रॉड का भंडाफोड़, 13 इंटर स्टेट साइबर अपराधी गिरफ्तार

Palamu Cyber Fraud Arrested

पलामू : साइबर क्राइम रोकने को लेकर चलाये जा रहे अभियान में पलामू पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। गुप्त सूचना पर मेदिनीनगर सदर थाना पुलिस ने चियांकी स्थित राधिका निवास में छापामारी कर कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल के माध्यम से आनलाइन बेवसाइट के माध्यम से आइपीएल बेटिंग, गेमिंग, सट्टा-जुआ का धंधा करने वाले 13 इंटर स्टेट साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। सारे अपराधी बिहार-यूपी के अलावा झारखंड के अलग अलग इलाकों के रहने वाले हैं। मौके से कई कंप्यूटर एवं इसके उपकरण, 30 मोबाइल, 5 सिमकार्ड सहित अन्य सामान बरामद किये गये हैं। यूपीआइ से करोड़ो के लेन देन के हिसाब किताब मिला है। इसे खंगाला जा रहा है।

शनिवार को एसपी रीष्मा रमेशन ने इस संबंध में अपने कार्यालय में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कॉल सेंटर की तरह ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से आइपीएल बेटिंग, गेमिंग, जुआ के अवैध धंधे को उजागर करते हुए 13 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है और कंप्यूटर समेत अन्य सामान बरामद किये गये हैं। मास्टरमाइंड की पहचान की जा रही है। रांची का रहने वाला बताया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि ऑनलाइन जुड़ने के लिए व्हाट्सएप नंबर दिया जाता था। इस पर क्लिक करते ही लोग जुड़ जाते थे और फिर उन्हें यूजर-आईडी देकर ऑनलाइन आईपीएल बैटिंग, गेमिंग, जुआ आदि के अवैध धंधे में खेलाया जाता था। हर दिन करोड़ों रुपये के ट्रांजैक्शन होते थे। सारे ट्रांजैक्शन यूपीआई के माध्यम से होते थे। साइबर क्राइम पकड़े गये सारे लोग पैड स्टॉफ के तौर पर काम कर रहे थे। एक युवक परीक्षा लिखने के लिए बाहर से आया था और फिर उसे यहां आने पर इस कंपनी के बारे में जानकारी मिली और वह इससे जुड़ गया। सारे लोग कस्टमर को डील करते थे और उन्हें ऑनलाइन बैटिंग, सट्टा और जुआ खेलने के लिए प्रलोभन देकर प्रेरित करते थे। उन्होंने बताया कि सारा खेल अवैध तरीके से हो रहा था। इनके द्वारा कई लोगों को ठगा भी गया है। इसके लिए छानबीन की जा रही है। अभी तक शिकायत सामने नहीं आयी है।

गिरफ्तार किये गये साइबर अपराधियों में मुकेश कुमार (22 वर्ष, सिमरिया, चतरा), राजेश कुमार (40 वर्ष, मांडू, रामगढ़), रोहित कुमार सोनी (38 वर्ष, रातू, रांची), अमित कुमार (28 वर्ष, हरमू बाजार, अरगोड़ा, रांची), ऋषि राज सिंह (25 वर्ष, सिवान, बिहार), अविनाश कुमार (30 वर्ष, देवरिया, उत्तर प्रदेश), सुशील कुमार सोनी (27 वर्ष, केरेडारी, हजारीबाग), विकास कुमार प्रजापति (27 वर्ष, जमुने कुम्हार टोला, पलामू), विकास कुमार महतो (24 वर्ष, चरही, हजारीबाग), पिंटू कुमार (26 वर्ष, केरेडारी, हजारीबाग), मनीष कुमार (19 वर्ष, केरेडारी, हजारीबाग), नीरज कुमार (19 वर्ष, केरेडारी, हजारीबाग) और आनंद कुमार (अरगोड़, रांची) शामिल हैं।

इनके पास से विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड लगे 30 मोबाइल फोन, 5 लैपटॉप, 9 मॉनिटर, 9 सीपीयू, 9 कीबोर्ड, 9 माउस, 9 यूपीएस राउटर एवं अन्य वायर पूरा सेट जो पीस सिम कार्ड 5 पीस बरामद किया गया है।

इस छापामारी दल में शहर थाना प्रभारी उत्तम कुमार राय, पुअनि श्याम जय कुमार सिंह, सअनि नबी अंसारी, हवलदार कार्तिक उरांव समेत सशस्त्र बल शामिल थे।

Palamu Cyber Fraud Arrested