Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

पलामू: सास से पैसे ऐंठने के लिए अपराधियों ने दामाद का किया अपहरण, पांच लाख की मांगी थी फिरौती, तीन पकड़ाये

पलामू : पुलिस ने शनिवार को अपहरण के एक मामले का खुलासा किया। इस मामले में 3 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इनकी पहचान पलामू जिले के नीरज पाल, फरीद और फिरोज अंसारी के रूप में हुई है।

पुलिस की ओर से बताया गया कि चार अपराधियों ने मिलकर चंदन कुमार चंद्रवंशी नाम के युवक का अपहरण कर लिया। अपराधियों की मंशा युवक की सास से मोटी रकम वसूल करने की थी। रुपये नहीं मिलने पर अपराधियों ने युवक के बैंक खाते से 34 हजार रुपये लेकर उसे छोड़ दिया। पुलिस इस मामले में चौथे आरोपी के तौर पर नुरैन उर्फ ​​मुन्ना अंसारी की तलाश कर रही है। पुलिस ने आरोपी के मोबाइल फोन बरामद कर लिए हैं।

घटना 30 दिसंबर 2021 की है। नगर थाने की पड़ताल में पता चला कि इस घटना का मुख्य आरोपी नीरज पाल था। नीरज पहले निमिया में चंदन कुमार की ससुराल के पास किराए के मकान में रहता था। चंदन के ससुराल में बड़ा घर और कार देखकर नीरज ने इस वारदात की योजना बनाई।

नीरज का मानना ​​था कि अगर घर के दामाद का अपहरण कर लिया जाता है तो उसे छुड़ाने के नाम पर सास-ससुर से मोटी रकम वसूल की जा सकती है। इसके बाद नीरज ने फरीद से संपर्क किया। इसके बाद ये दोनों अपने प्लान के साथ फिरोज और नूरैन के साथ जुड़ गए।

अपराधी चंदन की कार किराए पर लेने की योजना बना कर निमिया पहुंचे। चंदन खुद अपनी कार चला रहा था। इसमें पहले दो अपराधी यात्रा का हवाला देकर बैठे थे। कुछ दूर जाने के बाद उसने मोटरसाइकिल पर सवार दो अन्य साथियों के साथ युवक का अपहरण कर लिया। चंदन को हिसरा के जंगल में ले जाया गया। वहां से फोन कर ससुराल वालों को अपहरण की सूचना मिली और पांच लाख की फिरौती मांगी।

परिवार ने इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जताई। इसके बाद अपराधियों ने ऑनलाइन भुगतान के जरिए चंदन के बैंक खाते से 34000 रुपये निकाल लिए। इसके बाद युवक को कार समेत छोड़ दिया।

2 जनवरी को पीड़िता की ओर से नगर थाने में मामला दर्ज कराया गया था। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से मामले की जांच शुरू की। आखिरकार आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। जांच दल में अरुण कुमार महथा, सौरभ कुमार, बिनोद मुर्मू, देववाली सिंह, संजीव, श्रीनाथखाखा, रामजीत बस्के शामिल थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *