Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार

पलामू : पुलिस ने भाकपा माओवादी के कुख्यात सब जोनल कमांडर नारायण यादव को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस को कई मामलों में इसकी तलाश थी।

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार सब जोनल कमांडर नारायण यादव पिता बंधु यादव ग्राम लावादाग, छतरपुर का रहने वाला है, जो पिछले कुछ दिनों से ठेकेदार, व्यवसायियों व शिक्षकों को फोन से धमकी देकर लेवी की वसूली कर रहा था। जिससे उन लोगों में इसके प्रति भय व्याप्त था।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसी दौरान पुलिस को गुप्त सूचना मिली। जिसके आधार पर छतरपुर थाना पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए थाना क्षेत्र के काला पहाड़ स्थित गोरिया जंगल से उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इसके पास से धमकी देकर वसूली किए जाने में प्रयुक्त मोबाइल बरामद किया है।

पलामू पुलिस पिछले कई माह से इस कुख्यात माओवादी की तलाश कर रही थी। जिले के विभिन्न थाने में दर्ज कई मामलों में पुलिस इसकी तलाश कर रही थी। पुलिस ने बताया कि अलग-अलग मामलों में इसकी पत्नी बसंती देवी व साला कमलेश यादव को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

आगे बताया कि पूर्व के मामलों में जमानत पर रिहा होने के बाद नारायण यादव अपने नक्सली होने के प्रभाव का धौस क्षेत्र में जमा रहा था और काला पहाड़ के जंगलों में रहकर फोन से धमकी देकर रिश्तेदारों के माध्यम से लेवी वसूल कर रिश्तेदारों के बैंक खाते में लेवी का पैसा जमा करता था।