Breaking :
||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति

लातेहार में 10 लाख का इनामी भाकपा माओवादी जोनल कमांडर गिरफ्तार, थर्ड रेल लाइन निर्माण में लगी कंपनी की साइट हुए हमले में था शामिल

गोपी कुमार सिंह/रुपेश कुमार अग्रवाल

गिरफ्तार जोनल कमांडर पर 70 से अधिक मामले हैं दर्ज

लातेहार : नक्सलियों के खिलाफ लातेहार पुलिस का ऑपरेशन लगातार जारी है। पुलिस जिले भर से हर छोटे-बड़े नक्सली संगठन को जड़ से उखाड़ने का प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने 10 लाख के इनामी भाकपा माओवादी संगठन के जोनल कमांडर को गिरफ्तार किया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बूढ़ा पहाड़ से पुलिस ने माओवादियों को खदेड़ा

लातेहार पुलिस जिले भर से नक्सलियों को खदेड़ने के लिए लगातार अभियान चला रही है। यही वजह है कि नक्सलियों के सबसे सुरक्षित ठिकाने बूढ़ा पहाड़ से पुलिस ने माओवादियों को खदेड़ दिया है और बूढ़ा पहाड़ से सटे कई इलाकों में कैंप लगाने में भी पुलिस को सफलता मिली है। नक्सलियों की टोह में पुलिस का ऑपरेशन बूढ़ा पहाड़ इलाकों में अभी भी जारी है।

लातेहार पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी

इसी कड़ी में लातेहार पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने जिले के चंदवा थाना क्षेत्र के हेसला गांव से 10 लाख रुपये के इनामी भाकपा माओवादी संगठन के जोनल कमांडर मुनेश्वर गंझू उर्फ मुंशीजी उर्फ वितन गंझू को गिरफ्तार किया है। मुनेश्वर थर्ड रेल लाइन निर्माण में लगी कंपनी केईसी व टीटीआईपीएल की साइट हुए हमले में भी शामिल था।

चंदवा के हेसला गांव से हुई गिरफ्तारी

प्रेस वार्ता में में एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि जिले के चंदवा थाना क्षेत्र के हेसला बांझीटोला में माओवादी संगठन का खूंखार नक्सली रवींद्र गंझू अपने कुछ साथियों के साथ छिपा हुआ है। नक्सली जमावड़ा लगाकर चंदवा क्षेत्र में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना के बाद चंदवा पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता के नेतृत्व में टीम गठित कर नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की गयी। इसी दौरान चंदवा थाना क्षेत्र के हेसला गांव के पास से पुलिस ने मुनेश्वर गंझू को पकड़ लिया।

लेवी के 53 हजार रुपये नकद बरामद

पुलिस ने मुनेश्वर गंझू को बुधवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन लंबी पूछताछ के बाद गुरुवार को उसे मीडिया के सामने पेश किया गया। हालांकि गिरफ्तार नक्सली के पास से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है। पुलिस ने उसके पास से लेवी के 53 हजार रुपये नकद बरामद किया है।

पूछताछ में कई अहम खुलासे होने की संभावना

आशंका जतायी जा रही है कि कई घंटों की पूछताछ में मुनेश्वर गंझू ने पुलिस को कई अहम जानकारियां दी हैं। जिसके आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

हार्डकोर नक्सली रविंद्र गंझू का है दाहिना हाथ

एसपी ने बताया कि मुनेश्वर गंझू हार्डकोर नक्सली रविंद्र गंझू का दाहिना हाथ है। नक्सली मुनेश्वर गंझू चंदवा, लातेहार, बालूमाथ, मैकलुस्कीगंज, जोबांग जैसे कई थाना क्षेत्रों में सक्रिय होकर घटनाओं को अंजाम देता था।इसके अलावा रविंद्र गंझू की टीम का नेतृत्व भी मुनेश्वर गंझू ही कर रहा था।

78 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज

एसपी ने बताया कि मुनेश्वर गंझू के खिलाफ झारखंड के विभिन्न जिलों के थानों में करीब 78 आपराधिक मामले दर्ज हैं। मुनेश्वर गंझू की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी कामयाबी है। उन्होंने कहा कि नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस का अभियान लगातार जारी रहेगा।

चार पुलिस कर्मियों की हत्या में था शामिल

माओवादियों ने गत 23 नवंबर 2019 को चंदवा थाना क्षेत्र के लुकुईया मोड़ के पास पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया था। इस घटना में 4 पुलिसकर्मियों की मौत हुई थी। हमलावर माओवादियों के उस दस्ते में मुनेश्वर भी शामिल था।

चंदवा के मड़मा गांव का है 40 वर्षीय मुनेश्वर

मुनेश्वर गंझू मूल रूप से लातेहार के चंदवा थाना क्षेत्र के मड़मा गांव का रहने वाला है। पुलिस के मुताबिक मुनेश्वर गंझू की उम्र महज 40 साल है। महज 40 साल की उम्र में 75 से ज्यादा नक्सली घटनाओं को अंजाम दे देना इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि मुनेश्वर गंझू की गिरफ्तारी पुलिस के लिए कितनी अहम है। अगर मुनेश्वर गंझू को गिरफ्तार नहीं किया जाता तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि मुनेश्वर आने वाले सालों में और कितनी बड़ी वारदातों को अंजाम दे सकता था।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

केईसी व टीटीआईपीएल की साइट पर किया था हमला

आपको बता दें कि मुनेश्वर गंझू ने 2 अक्टूबर को मैक्लुस्कीगंज थाना क्षेत्र में थर्ड रेल लाइन के निर्माण में लगी कंपनी केईसी इंटरनेशनल लिमिटेड के क्रशर प्लांट में आगजनी व फायरिंग की थी। जबकि 21 अक्टूबर को चंदवा थाना क्षेत्र के माल्हन में भी केईसी इंटरनेशनल की साइट पर घटना को अंजाम दिया था। वहीं 22 नवंबर को चंदवा थाना क्षेत्र में थर्ड रेल लाइन के निर्माण में लगी कंपनी टीटीआईपीएल के डगडगी रेलवे पुल निर्माण में आगजनी, कर्मियों से मारपीट व गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया था। इसमें कंपनी को करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हुआ था। जबकि कंपनी के कई कर्मी घायल हो गये थे।

छापामारी दल

छापामारी दल में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी चंदवा अमित कुमार गुप्ता, पुलिस अवर निरीक्षक नारायण यादव, पुलिस अवर निरीक्षक दिव्य प्रकाश, पुलिस अवर निरीक्षक सुनील टूटी व सैट 202 व चंदवा थाना के जवान शामिल थे।