Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

अभी ख़त्म नहीं हुआ कोरोना, विशेषज्ञों ने कहा- सतर्क रहने की जरूरत, मास्क लगाना अनिवार्य

एहतियाती खुराक लेने की अपील

नयी दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं, ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बुधवार को समीक्षा बैठक की। इस बैठक में दुनिया के कुछ हिस्सों में कोरोना के मामलों में अचानक आयी तेजी को देखते हुए देश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की गयी और अधिकारियों को सतर्क रहने और निगरानी मजबूत करने का निर्देश दिया गया।

इस बैठक के दौरान अधिकारियों को संबोधित करते हुए मनसुख मंडाविया ने कहा कि कोरोना को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है और समय-समय पर उचित कदम उठाए जायें।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के साथ बैठक में शामिल होने के बाद नीति आयोग के सदस्य स्वास्थ्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि केवल 27 से 28% लोगों ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ निवारक खुराक ली है। हम अन्य लोगों विशेषकर वरिष्ठ नागरिकों से एहतियाती खुराक लेने की अपील करते हैं।

बैठक के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट के जरिये इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि कुछ देशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर विशेषज्ञों और अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। कोविड-19 अभी खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधितों को सतर्क रहने और सतर्कता को मजबूत करने का निर्देश दिया है। हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। मैं लोगों से भी कोविड वैक्सीनेशन लेने का आग्रह करता हूं।

बैठक में शामिल हुए एम्स के पूर्व निदेशक और वर्तमान में मेदांता अस्पताल से जुड़े डॉ. रणदीप गुलेरिया ने भारत में कोरोना के प्रभाव को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत की स्थिति चीन से काफी बेहतर है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि हम लापरवाही बरते।

आपको बता दें कि जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका, कोरिया गणराज्य, ब्राजील और चीन जैसे देशों में कोरोना के मामलों में वृद्धि को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोविड-19 के उभरते हुए वेरियंट के लिए सकारात्मक परीक्षण करने का आग्रह किया। नमूनों के संपूर्ण जीनोम अनुक्रमण को ट्रैक करने के लिए तैयार करने की सलाह दी।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे एक पत्र में कहा था कि इस तरह की कवायद देश में चल रहे नए वेरिएंट का समय पर पता लगाने और आवश्यक सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की सुविधा प्रदान करने में सक्षम होगी।