Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में हमने सरकार गिराने से रोका, हेमंत सोरेन के साथ गलत हुआ : राहुल गांधी

गुमला : भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी मंगलवार को गुमला जिले के कामडारा और बसिया प्रखंड पहुंचे। जगह-जगह पर राहुल गांधी का भव्य स्वागत किया गया।

बसिया में राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अदाणी, अंबानी, टाटा, बिड़ला पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा है कि कल्पना सोरेन से जो बात हुई है, उसे मैं पब्लिकली नहीं कर सकता। वह गोपनीय है, परंतु कल्पना सोरने के पति हेमंत सोरेन के साथ जो हुआ है, वह गलत है। मैं यात्रा में गरीबों से मिला हूं। उनकी समस्याएं सुनीं। मैं राज्य के कुछ मुद्दों पर झारखंड के मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन से बात करूंगा। झारखंड में जमीन और सरना कोड का मामला प्रमुख है। यूपीए की सरकार बनी तो सरना कोड लागू करेंगे। झारखंड में ट्राइबल फ्रेंडली सरकार है। गरीबों की सरकार है। पहले जो भाजपा की सरकार थी। वे एंटी ट्राइबल सरकार थी। भाजपा ने जो किया है, उसका जवाब जनता देगी।

राहुल गांधी ने कहा है कि पूरे देश में ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स विपक्ष पर हमला कर रही है। केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग हो रहा है। झारखंड में सरकार गिराने की कोशिश की गयी, परंतु झारखंड में हमने सरकार गिराने से रोक दिया। हम लड़ते रहेंगे। यह सच्चाई है। चुनाव आयोग हो, कोई एजेंसी हो, ब्यूरोक्रेसी हो या पुलिस हो। इन सब का देश में दुरुपयोग हो रहा है।

राहुल गांधी ने कहा है कि देश के टॉप 200 कंपनी में ओबीसी मालिक नहीं है। अदाणी, अंबानी, टाटा व बिड़ला का नाम आप जरूर सुने होंगे। लेकिन कहीं आप ओबीसी का नहीं सुनें होंगे। आदिवासी व दलित का भी नाम आपने नहीं सुना होगा। प्रधानमंत्री अपने को ओबीसी कहते हैं, परंतु बाद में वे कंफ्यूजन में आ गये और कहने लगे कि देश में दो जाति हैं। एक अमीर और दूसरा गरीब। पहले तो प्रधानमंत्री को यह तय करना होगा कि देश में जाति है या नहीं। देश में 50 प्रतिशत ओबीसी, दलित 15 व आदिवासी आठ प्रतिशत है। जनता चाहती है कि जाति जनगणना हो। अगर हम किसी को भागीदारी देना चाहते हैं तो इनकी गिनती हो। देश के प्रधानमंत्री जाति जनगणना से नहीं भागें। वर्ष 2011 में हमने जो सर्वे कराया था। प्रधानमंत्री उसे देश की जनता के सामने रख दें।

राहुल गांधी ने कहा है कि पिछले साल देश में जो नफरत व हिंसा फैलाया जा रहा था तो मैंने कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक 4000 किमी यात्रा की थी। यात्रा के दौरान बहुत सारे लोग मेरे पास आये थे। लोगों ने कहा था कि आपने 4000 किमी यात्रा कर दी, परंतु अभी भी झारखंड, ओडिशा सहित कई राज्य छूट गया था।इसलिए मैंने न्याय यात्रा शुरू की। देश के सामने अन्याय सबसे बड़ा मुद्दा है। यहां पांच तरह का अन्याय हो रहा है। सामाजिक अन्याय, महिलाओं व किसानों पर अन्याय, आर्थिक अन्याय, महंगाई है। झारखंड में वन अधिकार अधिनियम में कुछ कमियां हैं। इन कमियों को दूर किया जायेगा।

राहुल गांधी ने कहा कि छोटे व्यापारियों को पूरा सपोर्ट हम देंगे। नोटबंदी में गरीब बर्बाद हुए हैं. मोदी व अदाणी ने नोटबंदी कर देश के गरीबों पर प्रहार किया। इसके बाद जीएसटी लाया, परंतु जब हमारी सरकार बनेगी तो पहले जीएसटी को बदलेंगे। यूपीए की सरकार बनते ही जाति जनगणना करायेंगे। साथ ही अभी जिस राज्य में भी हमारी सरकार है। वहां जाति जनगणना होगी।

Rahul Gandhi Gumla Visit