Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

भूल सुधार: 27 जनवरी को बूढ़ा पहाड़ जायेंगे सीएम हेमंत सोरेन, ग्रामीणों की सुनेंगे समस्यायें

हेमंत सोरेन बूढ़ा पहाड़

पहले मुख्यमंत्री जो जायेंगे बूढ़ा पहाड़

रांची : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 27 जनवरी को बूढ़ा पहाड़ का दौरा करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री स्थानीय ग्रामीणों की समस्याएं सुनेंगे और उनके समाधान को लेकर कई घोषणाएं भी करेंगे। हेमंत सोरेन राज्य के पहले मुख्यमंत्री हैं, जो बूढ़ापहाड़ क्षेत्र में पहुंचेंगे।

गणतंत्र दिवस पर पहली बार होगा ध्वजारोहण

मुख्यमंत्री के साथ गढ़वा और लातेहार की पूरी प्रशासनिक टीम भी मौजूद रहेगी। इस दौरान मुख्य सचिव, गृह सचिव, डीजीपी और सीआरपीएफ के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। वहीं झारखंड-छत्तीसगढ़ सीमा पर पहली बार बूढ़ा पहाड़ क्षेत्र में गणतंत्र दिवस को धूमधाम से मनाने की तैयारी चल रही है और इससे जुड़े कई बड़े आयोजन किये जा रहे है। क्षेत्र के एक दर्जन गांवों में गणतंत्र दिवस के दौरान पहली बार ध्वजारोहण किया जाना है। पहले क्षेत्र में माओवादियों के डर से झंडारोहण नहीं किया जाता था।

बूढ़ा पहाड़ पर माओवादियों का था कब्जा

गौरतलब है कि सितंबर माह से बूढ़ापहाड़ में माओवादियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑक्टोपस चलाया गया था। इस अभियान में सुरक्षाबलों ने पहली बार बूढ़ापहाड़ पर कब्जा किया है। अभियान के दौरान नक्सली बूढ़ापहाड़ को छोड़कर भाग गाये हैं। बूढ़ापहाड़ में सुरक्षाबलों ने करीब आधा दर्जन कैंप लगा रखे हैं। इन कैंपों में कोबरा, सीआरपीएफ, जगुआर के जवानों को तैनात किया गया है। अब तक सुरक्षाबलों ने इलाके से 2500 से ज्यादा बारूदी सुरंग बरामद की है और आधा दर्जन से ज्यादा बंकरों को ध्वस्त किया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हेमंत सोरेन बूढ़ा पहाड़