Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत

रांची: विशेष ईडी न्यायाधीश प्रभात कुमार शर्मा की अदालत ने साहिबगंज जिले में अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन के आरोपी मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की जमानत याचिका शनिवार को खारिज कर दी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इससे पहले इस मामले की सुनवाई पिछले मंगलवार को हुई थी। सुनवाई के दौरान पंकज मिश्रा के वकील प्रदीप चंद्रा ने पंकज के इलाज से जुड़े दस्तावेज कोर्ट के सामने पेश किए और खराब स्वास्थ्य के आधार पर जमानत की गुहार लगायी।

ईडी की ओर से दलील देते हुए विशेष लोक अभियोजक आतिश कुमार ने पंकज मिश्रा के वकील की दलीलों का कड़ा विरोध किया और अदालत से जमानत न देने का आग्रह किया। इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर आदेश सुरक्षित रख लिया था।

गौरतलब है कि पंकज मिश्रा पर अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन से जुड़े एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले में पंकज मिश्रा को ईडी की टीम ने 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था। फिलहाल उनका रिम्स में न्यायिक हिरासत में इलाज चल रहा है।