Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत

रांची: विशेष ईडी न्यायाधीश प्रभात कुमार शर्मा की अदालत ने साहिबगंज जिले में अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन के आरोपी मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की जमानत याचिका शनिवार को खारिज कर दी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इससे पहले इस मामले की सुनवाई पिछले मंगलवार को हुई थी। सुनवाई के दौरान पंकज मिश्रा के वकील प्रदीप चंद्रा ने पंकज के इलाज से जुड़े दस्तावेज कोर्ट के सामने पेश किए और खराब स्वास्थ्य के आधार पर जमानत की गुहार लगायी।

ईडी की ओर से दलील देते हुए विशेष लोक अभियोजक आतिश कुमार ने पंकज मिश्रा के वकील की दलीलों का कड़ा विरोध किया और अदालत से जमानत न देने का आग्रह किया। इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर आदेश सुरक्षित रख लिया था।

गौरतलब है कि पंकज मिश्रा पर अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन से जुड़े एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले में पंकज मिश्रा को ईडी की टीम ने 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था। फिलहाल उनका रिम्स में न्यायिक हिरासत में इलाज चल रहा है।