Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

ED के समन के खिलाफ झारखंड हाई कोर्ट पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का लगाया आरोप

रांची : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ईडी के समन के खिलाफ शनिवार को झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। पिछले शुक्रवार शाम पांच बजे मुख्यमंत्री की ओर से ईडी के अधिवक्ता को याचिका की प्रति उपलब्ध करायी गयी थी।

मुख्यमंत्री ने ईडी समन मामले में दायर रिट याचिका को सुप्रीम कोर्ट से हाई कोर्ट जाने की अनुमति को आधार बनाया है। साथ ही ईडी को उनके खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने का आदेश पारित करने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने ईडी पर निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए पीएमएलए 2002 की धारा 50 और 63 की वैधता को चुनौती दी है।

मुख्यमंत्री का कहना है कि पीएमएलए में किया गया प्रावधान संविधान द्वारा दिये गये मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। ईडी को पीएमएलए की इन धाराओं के तहत किसी का बयान दर्ज करते समय गिरफ्तार करने का अधिकार है।

दरअसल, 23 सितंबर को ईडी ने पूछताछ के लिए चौथा समन जारी कर उन्हें पेश होने के लिए कहा है। हालांकि, डीएसपी प्रमोद मिश्रा एवं सरफुद्दीन खान के मामले में ईडी के समन को चुनौती वाली याचिका पर हाई कोर्ट ने इनकी पूछताछ के लिए ईडी में उपस्थिति दर्ज कराने पर गिरफ्तार नहीं करने का निर्देश दिया था।

Jharkhand CM Hemant Soren reached High Court