Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने की कई नयी योजनाओं की शुरुआत

रांची : झारखंड स्थापना दिवस पर मोरहाबादी मैदान में मंगलवार को भव्य आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस शामिल नहीं हुए। उनके बदले हेमंत सोरेन सरकार ने राज्यसभा सांसद और झारखंड आंदोलनकारी शिबू सोरेन को मुख्य अतिथि बनाया। भाजपा के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा भी इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए। एक तरह से भाजपा के सभी नेताओं ने इस कार्यक्रम से दूरी बना रखी थी। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय, मंत्री आलमगीर आलम, मंत्री सत्यानंद भोक्ता और राज्यसभा सदस्य महुआ माजी मुख्य रूप से मौजूद रहीं। इस मौके पर नेताओं ने हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल की जमकर तारीफ की।

समारोह में मंत्री आलमगीर आलम ने क्या कहा

आज अहम दिन है। झारखंड के 22 साल हो गए। समीक्षा करते हैं तो हर हाथ को काम, हर खेत को पानी के संकल्पों के साथ राज्य अलग हुए लेकिन 22 वर्षों में हमलोगों की अपेक्षा पर नहीं उतर पाए। अब बहुत कुछ बदल रहा है। हेमंत सोरेन के नेतृत्व में बहुत काम हुआ है। 2 साल में कई योजनाएं शुरू की गईं।

हर वायदे को सरकार ने पूरा किया : अविनाश

कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय ने कहा कि अड़चनों के बावजूद 1932 का खतियान पास हुआ। ओबीसी आरक्षण पर हेमंत सोरेन सरकार ने अपना वादा पूरा किया। इसके अलावा पिछले दिनों सरना धर्म कोड के लिए प्रस्ताव पास कर केंद्र सरकार के पास भेजा गया। अब केंद्र सरकार से आग्रह है कि इन प्रस्तावों को स्वीकृति दें। झारखंड की जनता की मांग पूरी करें। केंद्र की सरकार मनरेगा का मजाक उड़ाती थी, लेकिन यही योजना कोरोना संकट के समय काम आया।

हर मांग हेमंत सोरेन ने किया पूरा : सत्यानंद

झारखंड सरकार के मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि दो दशकों में जो काम नहीं हुआ वह काम हेमंत सोरेन ने किया है। वृद्धावस्था पेंशन, आवास, आदि के साथ-साथ पारा शिक्षकों, आंगनवाड़ी सेविकाओं आदि समस्याएं दूर हो रही हैं। आज सभी स्कूलों में शिक्षक मौजूद हैं। सभी की आवश्यकताओं को पूरा किया जा रहा है। कई योजनाएं राज्य सरकार ने शुरू की हैं। तीन वर्षों में राज्य सरकार ने सभी वादे पूरे किए। 1932 खतियान और 27 प्रतिशत ओबीसी आरक्षण की उम्मीद किसी को नहीं थी, लेकिन हेमंत सोरेन ने इसे पूरा किया।

नई योजनाओं की लांचिंग, युवाओं को नियुक्ति पत्र

समारोह के दौरान 2006 करोड़ की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। Jharkhand electric vehicle policy समेत तीन नई नीतियों को लांच किया गया। गुरुजी स्टूडेंट क्रेडिट योजना, एकलव्य प्रशिक्षण योजना, मुख्यमंत्री शिक्षा प्रोत्साहन योजना तथा मुख्यमंत्री सारथी योजना की हुई लांचिंग। हाल ही में जेपीएससी से चयनित 609 सहायक अभियंताओं व 16 लेखा पदाधिकारियों तथा जेएसएससी से चयनित 320 ए ग्रेड नर्स (रिम्स) को नियुक्ति पत्र दिए गए।

रांची जिले को सरकार से मिलीं कई सौगातें

रांची के झिरी को प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी। लिगेसी वेस्ट का वैज्ञानिक तरीके से बायो माइनिंग, रिसोर्स रिकवरी एवं बायो रेमेडीएशन करते हुए लैंड रिक्लेमशन की योजना का शिलान्यास हुआ। 136.17 करोड़ खर्च होंगे।

रांची के धुर्वा में श्रीकृष्ण लोक प्रशासन संस्थान के नए भवन का भी शिलान्यास हुआ। 155.56 करोड़ से इसका निर्माण होगा।

रांची विश्वविद्यालय परिसर में राजकीय पुस्तकालय का निर्माण 62.43 करोड़ से होगा। इसका भी शिलान्यास हुआ।

रांची स्थित राजकीय फार्मेसी संस्थान में 3.64 करोड़ से आधारभूत संरचनाओं का निर्माण होगा।

रांची के नामकुम स्थित आरसीएच परिसर में आयुष औषधि परीक्षण प्रयोगशाला तथा दवा के संग्रहण के लिए वेयर हाउस का भी शिलान्यास हुआ। इसके निर्माण पर 4.19 करोड़ की लागत आएगी।

रांची पुरुलिया पथ (नामकोम आरओबी से अनगड़ा सेक्शन) का चार लेन डिवाइडेड कैरिजवे में 181.74 करोड़ की लागत से चौड़ीकरण होगा। इस योजना का भी शिलान्यास किया गया।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें