Breaking :
||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस||झारखंड कैबिनेट की बैठक 19 जून को, लिये जायेंगे कई अहम फैसले||रजरप्पा को विश्वस्तरीय धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में किया जाये विकसित, कार्ययोजना करें तैयार : मुख्यमंत्री||झारखंड में IPS अधिकारियों का ट्रांसफर-पोस्टिंग||पलामू में प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा फेंके जाने से तनाव, इलाका पुलिस छावनी में तब्दील||JBKSS प्रमुख जयराम महतो ने की विधानसभा चुनाव में 55 सीटों पर लड़ने की घोषणा||मुठभेड़ में पांच नक्सलियों को मार गिराने वाली टीम को DGP ने किया सम्मानित, कहा- मुख्य धारा में लौटें, अन्यथा मारे जायेंगे||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम
Wednesday, June 19, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड के चार प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की मुख्यमंत्री ने दी अनुमति

रांची : मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन सरकार ने राज्य के चार अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की अनुमति दे दी है। मुख्यमंत्री सचिवालय ने शुक्रवार बताया कि राज्य सरकार ने राम प्रवेश कुमार, चंद्रशेखर सिंह, अवधेश कुमार पांडेय और डॉ अशोक कुमार पाठक के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की अनुमति सरकार ने दे दी है। इनमें दो अधिकारी सेवानिवृत हो गये हैं।

सीएमओ के मुताबिक, झारखंड प्रशासनिक सेवा (चतुर्थ सीमित बैच) के तत्कालीन अंचल अधिकारी राम प्रवेश कुमार की एक वेतन वृद्धि पर रोक लगाने के प्रस्ताव को राज्य सरकार ने मंजूर कर लिया है। उनके खिलाफ झारखंड सरकारी सेवक (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियमावली, 2016 के नियम-14 (iv) के तहत यह कार्रवाई की गयी है। जिस मामले में उनके खिलाफ कार्रवाई की गयी है, उस वक्त राम प्रवेश कुमार धनबाद के बलियापुर में अंचल अधिकारी थे। वर्तमान में वह जामताड़ा जिले के करमाटांड़ में अंचल अधिकारी हैं।

झारखंड प्रशासनिक सेवा के एक रिटायर्ड ऑफिसर चंद्रशेखर सिंह की पेंशन पर आजीवन रोक लगा दी गयी है। बिहार के सहरसा जिले के सोनवर्षा के तत्कालीन प्रखंड विकास पदाधिकारी चंद्रशेखर के विरुद्ध झारखंड पेंशन नियमावली के नियम-43 (ख) के तहत कार्रवाई को सरकार ने अनुमति दे दी है।

धनबाद नगर निगम के तत्कालीन आयुक्त और झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अवधेश कुमार पांडेय (कोटि क्रमांक-528/03) की पेंशन से एक साल तक पांच प्रतिशत की कटौती करने का फैसला किया गया है। सरकार ने इसकी भी मंजूरी दे दी है। झारखंड पेंशन नियमावली के नियम-43 (ख) के तहत दंडस्वरूप पेंशन में कटौती का प्रस्ताव लाया गया था।

बोकारो जिले के तत्कालीन सिविल सर्जन डॉ अशोक कुमार पाठक के विरुद्ध गठित प्रपत्र ‘क’ के तहत विभागीय कार्रवाई चलाने के प्रस्ताव पर राज्य सरकार ने सहमति दे दी है। इसके साथ इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई का रास्ता साफ हो गया है।

झारखंड चार अधिकारियों पर कार्रवाई