Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मुखिया होंगे सम्मानित

झारखंड में मुखिया होंगे सम्मानित

झारखंड राज्य खाद्य आयोग के स्थापना दिवस पर किया जायेगा सम्मानित

रांची : आगामी 09 दिसंबर को झारखंड राज्य खाद्य आयोग के स्थापना दिवस के अवसर पर झारखंड राज्य के सभी जिलों में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के सफल क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मुखिया को सम्मानित किया जायेगा। यह जानकारी आज खाद्य आयोग के अध्यक्ष हिमांशु शेखर चौधरी ने आयोग कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में दी। उन्होंने बताया कि प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार के लिए जिलों के मुखिया के चयन के लिए मापदंड तय किये जायेंगे।

श्री चौधरी ने कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 से आच्छादित योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन एवं बेहतर मॉनिटरिंग में मुखिया की अहम भूमिका है। प्रदेश के सभी मुखिया को उनकी जिम्मेदारियों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से खाद्य आयोग ने प्रदेश के सभी जिलों के मुखिया को सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

बैठक में विस्तृत चर्चा के बाद उत्कृष्ट कार्य करने वाले मुखिया के चयन के लिए कुल 08 मापदंड तय किये गये। इन मापदंडों के आधार पर जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहने वाले मुखिया का चयन किया जाना है।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि अक्टूबर 2022 से सितंबर 2023 की अवधि में मुखियाओं द्वारा किये गये कार्यों के आधार पर जिला स्तरीय चयन समिति तीन उत्कृष्ट मुखिया का चयन करेगी।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि मुखिया को सम्मानित करने के लिए निर्धारित मापदंड के आधार पर अंक देने के लिए सभी जिलों में एक चयन समिति का गठन किया जायेगा। चयन समिति के अध्यक्ष अपर समाहर्ता सह जिला शिकायत निवारण पदाधिकारी होंगे। जबकि जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला लोक सूचना पदाधिकारी, इनके अलावा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से संबंधित योजनाओं में काम करने वाले दो प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता, जिन्हें संबंधित जिले के उपायुक्त द्वारा नामित किया जायेगा, सदस्य होंगे।

श्री चौधरी ने कहा कि सभी जिलों के उपायुक्तों को चयन प्रक्रिया पूरी कर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय रैंक के मुखिया की सूची 15 नवंबर 2023 तक आयोग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

बैठक में खाद्य आयोग आयोग की सदस्या शबनम परवीन, सदस्य सचिव संजय कुमार, आयोग के पूर्व सदस्य उपेन्द्र नारायण उराँव, रामकरन रंजन, सर्वोच्च न्यायालय के आयुक्त के पूर्व राज्य सलाहकार बलराम, पूर्व कुलपति, विनोवा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग रमेश शरण सहित प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

झारखंड में मुखिया होंगे सम्मानित