Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत पांच के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

रांची : बड़गाईं अंचल की 8.5 एकड़ जमीन घोटाले में जेल में बंद पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, आर्किटेक्ट विनोद कुमार, बड़गाईं अंचल के उप-निरीक्षक भानु प्रताप प्रसाद, राजकुमार पाहन और हिलेरियस कच्छप के खिलाफ ईडी की टीम ने चार्जशीट (आरोप पत्र) दाखिल किया है।

ईडी के अधिकारी शनिवार को शाम बक्से में चार्जशीट लेकर कोर्ट परिसर पहुंचे। इसके बाद ईडी के विशेष न्यायाधीश राजीव रंजन की अदालत में चार्जशीट दाखिल की। लगभग साढ़े पांच हजार पन्नों की चार्जशीट जमा की गयी है, जिसमें अदालत को जानकारी दी गयी है कि जमीन घोटाले के जरिये हुए मनी लॉन्ड्रिंग में किसकी क्या भूमिका है। साथ ही ईडी ने 8.5 एकड़ जमीन भी अटैच किया है।

इससे पूर्व 21 मार्च को पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया गया था। इसके बाद कोर्ट ने पांच अप्रैल तक उनकी न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ा दी थी। हेमंत सोरेन फिलहाल बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में न्यायिक हिरासत में बंद हैं। ईडी ने हेमंत सोरेन को 31 जनवरी, 2023 को देर रात गिरफ्तार किया था। इसके बाद उन्हें एक फरवरी को कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया था।

Ranchi Land Scam Case