Breaking :
||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित||आईईडी ब्लास्ट में फिर एक जवान घायल, लाया गया रांची||लातेहार जिले के लिए गौरव भरा पल…राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर राज्यपाल ने डीसी को किया सम्मानित||पलामू में अंतरराज्यीय गिरोह के नौ अपराधी गिरफ्तार, दो करोड़ की रंगदारी मांगने सहित आधा दर्जन मामलों का खुलासा||25 लाख के इनामी माओवादी नवीन यादव ने किया आत्मसमर्पण, 100 से अधिक बड़े नक्सली हमलों में रहा है शामिल||मतदाता सूची सुधार एवं आधार प्रमाणीकरण कार्य में लातेहार जिला झारखंड में अव्वल, डीसी होंगे सम्मानित||पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया PLFI का एरिया कमांडर, हथियार बरामद

झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों पर FIR दर्ज कराने वाले विधायक पर भी मामला दर्ज

रांची : पश्चिम बंगाल पुलिस ने झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी को 30 जुलाई की देर रात पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले के पंचला से गिरफ्तार किया। इस मामले को लेकर दीपक राव सिंह नाम के शख्स ने बेरमो विधायक अनूप सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

इसमें कहा गया है कि विधायक अनूप सिंह ने साजिश रचकर अपने साथियों को फंसाया है। अरगोड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए विधायक अनूप सिंह व अन्य के खिलाफ साजिश रचने की प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही गई है।

दर्ज करायी गयी शिकायत में कहा गया है कि बीते 29 जुलाई इरफान अंसारी अन्य दो विधायक राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी के साथ निजी काम के लिए गुवाहाटी गए थे, वे 30 जुलाई को कोलकाता लौट आए। विश्व आदिवासी दिवस 9 अगस्त को है। सभी विधायक इस मौके पर वितरण के उद्देश्य से साड़ी खरीदने का फैसला किया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हालांकि पश्चिम बंगाल की पुलिस ने रानीहाटी में उनकी कार को रोक लिया। बिना किसी अधिकारी के उस कार की तलाशी ली। तलाशी के दौरान पश्चिम बंगाल पुलिस को 48 लाख रुपये नकद मिले, जो साड़ियां खरीदने के लिए रखे हुए थे। स्पष्टीकरण के बावजूद पश्चिम बंगाल पुलिस ने बिना किसी प्राधिकार के उन्हें उनके ड्राइवर और दोस्त के साथ हिरासत में ले लिया।

दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि 31 जुलाई को कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह ने अरगोड़ा थाने में तीनों विधायकों व अन्य के खिलाफ जीरो प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसके बाद पश्चिम बंगाल पुलिस ने विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी को गिरफ्तार किया।

अनूप सिंह ने आरोप लगाया है कि उन्हें, डॉ. इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी के साथ, झारखंड में मौजूदा झामुमो और कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए रिश्वत की पेशकश की गई थी। इसके लिए असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के साथ बैठक करने की बात कही गई थी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

हालांकि असम के सीएम और अनूप सिंह की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है। चूंकि अनूप सिंह पहले ही असम के सीएम हेमंत बिस्वा सरमा से मिल चुके हैं और उन्हें जानते हैं, इसलिए ऐसी बैठक की कोई आवश्यकता नहीं है, जैसा कि अनूप सिंह ने आरोप लगाया है। यहां यह उल्लेख करना उचित होगा कि अनूप सिंह ने अपने पिता के समय से हेमंत बिस्वा सरमा के साथ इस तरह के सौहार्दपूर्ण संबंध को मीडिया के सामने स्वीकार किया है।

दर्ज शिकायत में कहा गया है कि इससे पता चलता है कि अनूप सिंह ने अपने सहयोगियों के साथ राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी के साथ डॉ. इरफान अंसारी को फंसाने की योजना बनाई थी। अनूप सिंह ने डॉ. इरफान अंसारी के साथ अन्य दो विधायक राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी को भी इस तरह के फर्जी और मनगढ़ंत मामले में फंसाया था।