Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

लातेहार के इस गांव में नहीं हो रही है लड़कों की शादी, वजह जान आप भी रह जाएंगे हैरान

लातेहार के चंदवा प्रखंड में एक ऐसा गांव है जहां लड़कों की शादी नहीं हो रही है। जी हां, आपको यह बात अजीब लग सकती है, लेकिन यह सच है। इतना ही नहीं इसके पीछे की वजह आपको हैरान करने वाली है।

इस गांव का नाम पडुवा हरिया है और यहां कोई अपनी लड़की नहीं देना चाहता। इसके पीछे का कारण है जंगली हाथी। इस वजह से इस गांव में कोई भी अपनी लड़की से शादी नहीं करना चाहता है।

इस गांव में कुछ सालों से हाथियों का ऐसा उपद्रव चल रहा है कि कई युवकों की शादी टूट चुकी है। बेटों की शादी टूटने से परेशान पडुवा के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से हाथियों से निजात दिलाने में मदद की गुहार लगाई है।

चकला निवासी सोमरा उरांव नाम के एक ग्रामीण ने बताया कि उसके बेटे की शादी तय हो गई थी। लेकिन, हाथियों ने इलाके में इतना दहशत पैदा कर दी कि आने वाली समधि ने बेटी की शादी से इनकार कर दिया।उन्होंने कहा कि उनकी बेटी यहां कैसे सुरक्षित रहेगी।

गांव के लोगों के मुताबिक पहाड़ों और जंगलों से घिरे गांवों में लगभग साल भर से हाथियों के हमले का सामना करना पड़ रहा है। हाथी न सिर्फ फसलों को रौंदते हैं बल्कि घरों में घुसकर उन्हें परेशान भी करते हैं। घर में रखे अनाज और तोड़फोड़ की। यहां लोग जंगली हाथी से काफी परेशान हैं।

शादी न होने से निराश राजेंद्र मुंडा नाम के युवक ने बताया कि उसकी शादी तय हो गई थी। दिन की तैयारी चल रही थी। तभी हाथियों ने फिर से गांव में हंगामा करना शुरू कर दिया जब लड़कियों को इस बात का पता चला तो उन्होंने तुरंत शादी के लिए मना कर दिया और लड़के की शादी टूट गई। ग्रामीणों ने बताया कि गजराज आधी रात के बाद आकर घरों में घुसकर फिर जंगल में चला जाता था।

हाथियों के भय से ग्रामीण खाद्य सामग्री व अन्य कीमती सामान ट्रेक्टर के द्वारा सुरक्षित स्थानों पर भेज रहे हैं। कई ग्रामीण तो गांव से पलायन का भी मन बना रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *