Breaking :
||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश

प्रदीप यादव/हेरहंज

लातेहार : जिले के प्रसिद्ध जलप्रपात पातम-डाटम में डूबे दोनों युवकों का शव ग्रामीणों के प्रयास से बरामद कर लिया गया है। हालांकि प्रशासनिक सहायता नहीं मिलने से लोग काफी आक्रोशित थे।

डूबने से हुई थी मौत

आपको बता दें कि रविवार की शाम करीब पांच बजे जल प्रपात में नहाने के दौरान डूबने से दो युवकों की मौत हो गयी। ग्रामीणों ने दोनों युवकों के शव की तलाश की, लेकिन रात आठ बजे तक शव नहीं मिले।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों के प्रयास से बरामद हुए शव

सोमवार की सुबह जिलिंगा गांव के ग्रामीण व परिजन मौके पर पहुंचे और शवों की तलाश शुरू की। ग्रामीण लखन महतो ने देसी जुगाड़ कर युवक अभय मेहता का शव बरामद किया। जबकि दो घंटे की अथक कोशिश के बाद एक अन्य युवक राम प्रकाश का शव भी बरामद कर लिया गया।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत

ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन पर लगाया आरोप

उधर, घटना के प्रति प्रशासनिक उदासीनता से परिजन व ग्रामीण आक्रोशित नजर आये। ग्रामीणों ने युवक के शव को अपने कब्जे में ले लिया है। ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि दर्द में कुछ कहने पर पुलिस उन्हें धमकी देती है। कहा जाता है कि जो ज्यादा बोलता है उसे चिन्हित करो बाद में बताया जाएगा।

नहीं मिली प्रशासनिक सहायता

परिजनों ने कहा कि घटना के बाद किसी भी तरह की प्रशासनिक सहायता नहीं मिली। शवों की तलाश करने के लिए न तो एनडीआरएफ की टीम और न ही गोताखोर को बुलाया गया। जबकि अन्य जिलों में प्रशासनिक तत्परता से एनडीआरएफ की टीम को तुरंत बुला लिया जाता है।

आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

इधर, दो बजे तक एनडीआरएफ की टीम के न आने से आक्रोशित ग्रामीणों ने हेरहंज भंडार चौक के पास बालूमाथ-हेरहंज-पांकी व हेरहंज-मनिका मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। जो करीब एक घंटे तक रहा। एक अन्य युवक का शव मिलने पर ग्रामीणों ने जाम हटाया। इस दौरान जाम में फंसे बस यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

उपप्रमुख ने बीडीओ पर लगाया आरोप

बाद में जाम की सूचना पर उपप्रमुख विजय उरांव, बीडीओ सह सीओ प्रदीप कुमार दास जामस्थल पहुंचे। उपप्रमुख ने बीडीओ पर आरोप लगाते हुए कहा कि घटना के बाद रविवार की देर शाम फोन कर घटना की जानकारी देकर समस्या का समाधान कराना चाहा लेकिन फोन रिसीव नहीं किया गया।

पाइप रेलिंग लगाने की मांग

पातम-डाटम जलप्रपात में देवी देवता का भी स्थल है। जिस स्थान में देवता का स्थल है वहां पर चिकना पत्थर व ढाल रहने के कारण कभी घटना की संभावना बनी रहती है। इसलिए ग्रामीणों ने जिला प्रशासन, प्रखण्ड प्रशासन व पंचायत जनप्रतिनिधियों से उक्त स्थल पर पाइप रेलिंग कर जाली लगवाने की मांग की है।