Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी झड़प, गर्भवती महिला समेत तीन घायल

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के बेंदी पंचायत के जेर गांव में रविवार की शाम करीब चार बजे जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच खूनी झड़प हो गयी। जिसमें तीन लोग घायल हो गये।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

घायलों में प्रथम पक्ष के मुकुल उराँव पिता पच्चू उराँव, 7 माह की गर्भवती लालमुनि देवी पति मुकेश उराँव शामिल हैं। जबकि दूसरे पक्ष में स्वर्गीय झूमा उराँव का पुत्र देबुल उराँव शामिल है। सभी घायलों का इलाज सदर अस्पताल लातेहार में कराया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस घटना में दोनों पक्षों के लोग लातेहार सदर थाना पहुंचे। थाना प्रभारी आशुतोष कुमार ने दोनों पक्षों की बातें सुनीं और निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया। इस संबंध में कांड संख्या 142/23 एवं 143/23 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

प्रथम पक्ष से घायल मुकुल उराँव ने बताया कि मेरी पुश्तैनी जमीन खाता 71 प्लॉट 161 मेरे दादा स्वर्गीय हल्कानी उराँव के नाम से दर्ज है। मैं अपनी जमीन जोतने के लिए ट्रैक्टर लाया था। उसी समय अचानक देबुल उराँव, बिनेशर उराँव, जगतु उराँव, पिता स्वर्गीय पांडु उराँव, जोगन उराँव, भोला उराँव, जुनेश्वर उराँव सहित कई लोगों ने मुझ पर टांगी, लाठी-डंडे से हमला कर दिया। जिससे मेरा सिर फट गया और मैं बेहोश हो गया। परिजनों की सहायता से किसी तरह मुझे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसी विवाद में मेरे छोटे भाई की पत्नी, जो 7 माह की गर्भवती थी, के साथ भी मारपीट की गयी, जिससे लालमुनी देवी के पेट में गंभीर चोट आयी है। उसका इलाज भी सदर अस्पताल में कराया गया।

मुकुल ने बताया कि देबुल उराँव और जगतु उराँव ने टांगी से मेरे ऊपर हमला किया, जबकि जगतु उराँव सरकारी रेलवे कर्मचारी है। वह कभी अपना ऑफिस नहीं जाता। जगतू उराँव का बड़ा बेटा उमेश उराँव उसके बदले में काम करता है।