Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी झड़प, गर्भवती महिला समेत तीन घायल

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के बेंदी पंचायत के जेर गांव में रविवार की शाम करीब चार बजे जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच खूनी झड़प हो गयी। जिसमें तीन लोग घायल हो गये।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

घायलों में प्रथम पक्ष के मुकुल उराँव पिता पच्चू उराँव, 7 माह की गर्भवती लालमुनि देवी पति मुकेश उराँव शामिल हैं। जबकि दूसरे पक्ष में स्वर्गीय झूमा उराँव का पुत्र देबुल उराँव शामिल है। सभी घायलों का इलाज सदर अस्पताल लातेहार में कराया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस घटना में दोनों पक्षों के लोग लातेहार सदर थाना पहुंचे। थाना प्रभारी आशुतोष कुमार ने दोनों पक्षों की बातें सुनीं और निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया। इस संबंध में कांड संख्या 142/23 एवं 143/23 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

प्रथम पक्ष से घायल मुकुल उराँव ने बताया कि मेरी पुश्तैनी जमीन खाता 71 प्लॉट 161 मेरे दादा स्वर्गीय हल्कानी उराँव के नाम से दर्ज है। मैं अपनी जमीन जोतने के लिए ट्रैक्टर लाया था। उसी समय अचानक देबुल उराँव, बिनेशर उराँव, जगतु उराँव, पिता स्वर्गीय पांडु उराँव, जोगन उराँव, भोला उराँव, जुनेश्वर उराँव सहित कई लोगों ने मुझ पर टांगी, लाठी-डंडे से हमला कर दिया। जिससे मेरा सिर फट गया और मैं बेहोश हो गया। परिजनों की सहायता से किसी तरह मुझे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसी विवाद में मेरे छोटे भाई की पत्नी, जो 7 माह की गर्भवती थी, के साथ भी मारपीट की गयी, जिससे लालमुनी देवी के पेट में गंभीर चोट आयी है। उसका इलाज भी सदर अस्पताल में कराया गया।

मुकुल ने बताया कि देबुल उराँव और जगतु उराँव ने टांगी से मेरे ऊपर हमला किया, जबकि जगतु उराँव सरकारी रेलवे कर्मचारी है। वह कभी अपना ऑफिस नहीं जाता। जगतू उराँव का बड़ा बेटा उमेश उराँव उसके बदले में काम करता है।