Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

लातेहार: प्रखंड समन्वयक को मिली जान से मारने की धमकी, मामला दर्ज

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के होटवाग ग्राम निवासी शिव प्रसाद यादव ने अपने ही गांव के शंकर यादव पिता अशर्फी यादव पर गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस संबंध में शिव प्रसाद यादव ने लातेहार सदर थाने में आवेदन देकर मामला दर्ज कराया है।

प्रखंड समन्वयक शिव प्रसाद यादव

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दिए गए आवेदन में शिव ने बताया है कि शंकर यादव को 17 अप्रैल 2021 को जमीन के एवज में अग्रिम 90 हजार रुपये बैंक ऑफ इंडिया के खाते से शंकर यादव के खाते में ट्रांसफर किया था, जो मेरी मां की जमा पूंजी थी।

पैसा देने के बावजूद आज तक शंकर यादव ने ना तो जमीन की नापी कराई और नहीं जमीन दिया गया। 16 माह बीत जाने के बाद भी जब पैसे की मांग करता हूं तो पैसा नहीं दिया जा रहा है।

आवेदन में आगे बताया है कि मैं गारू प्रखंड के प्रखंड समन्वयक के पद पर कार्यरत हूं और शंकर यादव 11 अगस्त 2022 को मुझे रात में फोन कर गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दिया। फोन पर शंकर यादव ने कहा कि बीच रास्ते में तुम्हें जान से मार दूंगा।

आवेदन में शिव प्रसाद यादव ने पुलिस पदाधिकारियों से अनुरोध किया है कि शंकर यादव पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए सुसंगत धाराओं के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए।