Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने वोट के बदले नोट मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का किया स्वागत, कहा…

रांची : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने वोट के बदले रिश्वत मामले में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस केस में शिकायतकर्ता में वे भी शामिल रहे हैं और आज के फैसले से शिबू सोरेन परिवार की सच्चाई फिर एकबार उजागर हुई है।

बाबूलाल मरांडी सोमवार को प्रदेश कार्यालय में प्रेसवार्ता करते हुए शिबू सोरेन परिवार पर हमला बोला। मरांडी ने कहा कि यह फैसला कई मिथक को तोड़ने वाला है। चाहे सदन हो या कहीं और यदि मामला आपराधिक है तो आपराधिक ही माना जायेगा। कोई पैसा लेकर सवाल पूछे या वोट दे सभी अपराध हैं।

उन्होंने कहा कि शिबू सोरेन परिवार ने इस मामले में इतिहास रचा है। एमएलए, एमपी बनकर शिबू सोरेन परिवार ने पैसा लूटने का कोई अवसर नहीं छोड़ा है। उन्होंने कहा कि शिबू सोरेन का राजनीतिक उद्देश्य है केवल पैसा कमाना और लूटना। इनकी राजनीति जनता के लिए नहीं बल्कि परिवार के स्वार्थ की पूर्ति के लिए है। उन्होंने कहा कि यह परिवार पहले पैसा, जमीन, खान खनिज लूटता है और फिर पकड़े जाने पर उसे वापस करने का नाटक करता है।

उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन ने पहले मुख्यमंत्री रहते अपने नाम खदान आवंटित किया फिर उसे रद्द कर दिया। 8.5 एकड़ जमीन मामले में भी बातें जब उजागर हुईं तो आनन-फानन में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करते हुए जमीन की मूल रैयत को वापस करने का प्रयास किया।

उन्होंने कहा कि एक तरफ लोग चिल्ला कर कह रहे यह जमीन हेमंत सोरेन की है और मनी लॉन्ड्रिंग तो यही होता है जिसमें बेनामी संपत्ति अर्जित की जाती है। उन्होंने कहा कि चोरी जब पकड़ी जायेगी तभी सजा मिलती है। समय बीत जाने से अपराध कम नहीं हो जाता। उन्होंने कहा कि शिबू सोरेन परिवार पहली दफा नहीं बल्कि कई बार राज्यसभा चुनाव में पैसे की वसूली का रिकॉर्ड बना चुका है।

Jharkhand Big Breaking News